तुलसी अनेक औषधीय गुणों वाला पौधा है, इसमे एंटीऑक्सिडेंट के अलावा भी ऐसे कई तत्व होते है जो हमारी सेहत को अनेक प्रकार से फायदा पहुंचाते है। तुलसी का इस्तेमाल उसके ताजे पत्ते, सूखे हुए पत्ते या पाउडर किसी भी रूप में करना फायदेमंद होता है।

सामग्री – 500 ग्राम तुलसी के पत्ते (जिन्हें छाया में रखकर सुखाया गया हो), 250 ग्राम सौंफ, 150 ग्राम छोटी इलायची के दाने, 250 ग्राम लाल चंदन और 25 ग्राम काली मिर्च, 50 ग्राम दालचीनी, 100 ग्राम तेजपान, 25 ग्राम बनफशा, 100 ग्राम ब्राह्मी बूटी।
आसान विधि- सब पदार्थों को एक-एक करके इमाम दस्ते (खल बत्ते) में डालें और मोटा-मोटा कूटकर सबको मिलाकर किसी बरनी में भरकर रख लें। बस, तुलसी की चाय तैयार है।
कितनी मात्रा में उपयोग में लाएं – 2 कप चाय के लिए यह ‘तुलसी चाय’ का मिश्रण/चूर्ण छोटा 1/2 (आधा) चम्मच भर लेना काफी है।

चाय बनाने की विधि – सबसे पहले 2 कप पानी एक तपेली में डालकर गरम होने के लिए आंच पर रख दें। जब पानी उबलने लगे तब तपेली आंच से नीचे उतार लें और छोटा 1/2 (आधा) चम्मच मिश्रण डालकर फौरन ढक्कन से ढंक दें। फिर पुन: थोड़ी देर तक उबलने दें, अब चाय को कप में छान लें। लीजिए आपके लिए तैयार है स्वास्थ्य की रक्षा करने वाली तुलसी की चाय।अगर आप तुलसी की चाय को मीठा करना चाहें तो पानी उबालते समय ही अपने स्वाद के अनुसार शकर डाल दें और गरम होने के लिए रख दें, क्योंकि इस चाय में दूध का उपयोग नहीं किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.