दिल्ली – सुस्‍त डिमांड और हाई कॉस्‍ट की वजह से टाटा स्टील यूरोप में 3,000 से अधिक लोगों को नौकरी से निकालने की योजना बना रही है. न्‍यूज एजेंसी रॉयटर्स ने ये दावा किया है. रॉयटर्स सोर्सेज के मुताबिक बीते दिनों टाटा स्‍टील के यूरोपीय मुख्य कार्यकारी हेनरिक एडम ने छंटनी के संकेत दिए थे लेकिन तब कंपनी द्वारा इसके आंकड़े जारी नहीं किए गए थे. लेकिन अब टाटा स्‍टील की ओर बयान में बताया गया है कि 3000 से अधिक कर्मचारियों की छंटनी की जाएगी.

टाटा के बयान के मुताबिक कंपनी की योजना है कि वो बिक्री बढ़ाकर और यूरोपीय कारोबार में 3,000 कर्मचारियों की छंटनी करके प्रदर्शन में सुधार करेगी. टाटा के मुताबिक सुस्‍त डिमांड, ट्रेड इश्‍यू और अन्‍य समस्‍याओं की वजह से यह फैसला लेना पड़ा है. जिन कर्मचारियों की छंटनी होगी उनमें से दो-तिहाई कार्यालय आधारित काम करने वाले होंगे. हालांकि कंपनी ने ये साफ किया है कि प्‍लांट बंद करने की कोई योजना नहीं है.

अगर भारत में टाटा स्टील की बात करें तो कंपनी को 30 सितंबर को समाप्त तिमाही में 255.89 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है. एक साल पहले की जुलाई – सितंबर तिमाही में कंपनी को 60.7 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था. हाल ही में जारी नतीजों के मुताबिक इस अवधि में कंपनी की आय गिरकर 4,580.47 करोड़ रुपये रह गई , जो कि एक साल पहले की इसी तिमाही में 5,907.47 करोड़ रुपये थी.

यहां बता दें कि टाटा स्टील ने पिछले साल मई में अपनी पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी बमनीपाल स्टील लिमिटेड (बीएनपीएल) के जरिए कर्ज तले दबी भूषण स्टील का अधिग्रहण किया था और बाद में उसका नाम बदलकर टाटा स्टील बीएसएल कर दिया गया.

रिपोर्ट – एजेंसी इनपुट

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.