कश्मीर – मोदी सरकार ने मंगलवार को लोकसभा में जम्मू और कश्मीर की स्थिति पर जानकारी देते हुए केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि 5 अगस्त से अक्टूबर 2019 के दौरान जम्मू और कश्मीर में सीमापार से नियंत्रण रेखा पर युद्धविराम उल्लंघन की 950 घटनाएं रिपोर्ट की गईं.

जबकि 5 अगस्त से 15 नवंबर 2019 तक पत्थरबाजी के 190 मामले दर्ज किए गए और 765 लोगों को गिरफ्तार किया गया. केंद्रीय मंत्री की ओर से दिए गए जवाब में कहा गया कि इस साल की शुरुआत से 4 अगस्त तक पत्थरबाजी के 361 मामले दर्ज किए गए थे.

उन्होंने आगे बताया कि पिछले 6 महीनों में 34,10,219 पर्यटकों ने जम्मू-कश्मीर की यात्रा की, जिसमें 12,934 विदेशी पर्यटक भी शामिल हैं. रेड्डी ने बताया कि 5 अगस्त के बाद शुरुआत में जम्मू-कश्मीर में छात्रों की उपस्थिति कम थी, जो धीरे-धीरे बढ़ती चली गई और इस समय चल रही परीक्षाओं के दौरान छात्रों की वर्तमान उपस्थित 99.7 फीसदी है. संसद के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन केंद्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि पत्थरबाजी को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने बहुआयामी नीति शुरू की.

बड़ी संख्या में परेशानी पैदा करने वालों, भड़काने वालों, भीड़ इकट्ठा करने वालों की पहचान की गई है और उनके विरुद्ध विभिन्न एहतियाती उपाय किए गए हैं. जांच से यह पता चला है कि कश्मीर घाटी में पत्थरबाजी की घटनाओं में हुर्रियत से जुड़े विभिन्न अलगाववादी संगठन और कार्यकर्ता संलिप्त रहे हैं. NIA ने अब तक आतंकी फंडिंग के मामलों में 18 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है.

रिपोर्ट – एजेंसी इनपुट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.