नई दिल्ली- अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट  का फैसला आने के बाद हर समुदाय ने इसके तहे दिल से स्वीकारा था लेकिन AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी  को ये फैसला नागवार गुजरा था. ओवैसी ने फैसले के वक्त भी भड़काऊ बयानबाजी की थी और एकबार फिर कुछ वैसा ही किया है.

AIMIM चीफ और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने जहर उगलते कहा कि वह अपनी मस्जिद वापस चाहते हैं. शुक्रवार (15 नवंबर, 2019) को ट्वीट कर उन्होंने कहा, “मुझे मेरी मस्जिद वापस चाहिए.” ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है. इससे पहले भी ओवैसी ऐसी बयानबाजी करते आए हैं.

फैसले के वक्त असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि अगर मस्जिद वहां पर रहती तो सुप्रीम कोर्ट क्या फैसला लेती. यह कानून के खिलाफ है. बाबरी मस्जिद  नहीं गिरती तो फैसला क्या आता. हमें हिंदुस्तान के संविधान पर भरोसा है. हम अपने अधिकार के लिए लड़ रहे थे. 5 एकड़ जमीन की खैरात की जरूरत नहीं है. मुस्लिम गरीब हैं, लेकिन मस्जिद बनाने के लिए हम पैसा इकट्ठा कर सकते हैं.

फैसले वाले दिन असदुद्दीन ओवैसी  ने कहा था कि हमें 5 एकड़ के ऑफर को खारिज कर देना चाहिए. ओवैसी ने आरोप लगाया कि ये मुल्क अब हिंदूराष्ट्र के रास्ते पर जा रहा है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने अयोध्या से इसकी शुरुआत की है और एनआरसी, सिटिजन बिल से यह पूरा किया जाएगा.

रिपोर्ट – न्यूज नेटवर्क 24

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.