राजकोट- भारत और बांग्लादेश के बीच तीन टी20 मैच की सीरीज खेला जी रही है। इस सीरीज में 1-0 से पिछड़ने वाली टीम इंडिया ने कल कप्तान रोहित शर्मा की आतिशी पारी के दम पर दूसरे मैच में मेहमानों को 8 विकेट से हार का स्वाद चखाकर सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली है। इस सीरीज का पहला मैच हारने पर रोहित की कप्तानी पर सवाल उठने लगे थे, लेकिन उन्होंने इन सभी प्रेशर को ठंडे दिमाग से संभाला और इस मैच में अपने बल्ले से सबको जवाब दिया।

सीरीज से पहले भारत और बांग्लादेश के बीच 8 टी20 मैच खेले गए थे जिसमें सभी मैच भारत ने जीत थे, लेकिन इस सीरीज के पहले ही मैच में बांग्लादेश के खिलाड़ियों ने हर क्षेत्र में मेजबानों को पछाड़ा और इतिहास रच दिया। मुशफिकुर की नाबाद 60 रन की पारी के दम पर बांग्लादेश ने पहली बार भारत को टी20 मैच में मात दी।

इस मैच के बाद रोहित शर्मा की कप्तानी पर सवाल उठने लगे। कोई कहने लगा उनके गेंदबाजी में बदलाव ठीक नहीं थे तो कोई उनकी फील्डिंग ठीक से ना जचाने के बारे में सवाल उठाने लगा। लेकिन कप्तान रोहित शर्मा ने इन सभी आलोचनाओं को सकारात्मक तरीके से लिया और पूरी तैयारी के साथ मैदान पर उतरे।

भारत ने दूसरे मैच में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का निर्णय लिया। भारत की शुरुआत बेहद बेकार रही क्योंकि खलील ने शुरुआत में काफी रन लुटाए। इसके बाद भारत की फील्डिंग में एक बार फिर ढिलापन दिखा। ऋषभ पंत की एक्साइटमेंट में टीम को पीछे ढकेला तो एक बार रोहित शर्मा ने कैच छोड़कर बांग्लादेश को हावी होने का मौका दिया।

इस मंजर को देखकर लगने लगा कि भारत पहली बार बांग्लादेश से सीरीज हार जाएगा, लेकिन आधे खेल में फैसले तक पहुंचना रोहित शर्मा को पसंद नहीं। रोहित शर्मा ने गेंदबाजी में अच्छे बदलाव कर बांग्लादेश की टीम को 153 रनों पर रोक दिया। रोहित ने चहल और दीपक चहर का जिस अंदाज में इस्तेमाल किया वो काफी अच्छा था।

इसके बाद बात बल्लेबाजी की थी। रोहित शर्मा ने खुद टीम की कमान संभालते हुए भारत को आतिशी शुरुआत दी और पहले 6 ओवर में भारत ने बिना विकेट खोए 63 रन ठोंक डाले। इस रनों में रोहित शर्मा का 21 गेंदों पर 46 रन का था। पावरप्ले खत्म होने के बाद भी रोहित ने अपना बल्ला नहीं रोका और वो रन बनाते चले गए। रोहित ने 23 गेंदों में अपने टी20 करियर का 17वां अर्धशतक पूरा किया।

पारी के 10वें ओवर में रोहित शर्मा ने पहली तीन गेंदों पर तीन छक्के लगाए और मैच को अपनी मुठ्ठी में कर लिया। इसी तेजी से रोहित शर्मा टीम को जीत की ओर ले जा रहे थे, लेकिन पारी के 13वें ओवर की दूसरी गेंद पर छक्का लगाने के प्रयास में वो अमिनुल इस्लाम का शिकार बन बैठे। रोहित ने 85 रनों की अपनी इस पारी में 43 गेंदों पर 6 चौके और इतने ही छक्के लगाए।

रिपोर्ट – एजेंसी इनपुट , न्यूज नेटवर्क 24 डेस्क

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.