Sanju baba
Sanju baba

संजय दत्त के चाहने वालों के लिए अच्छी खबर है. यूपी में उनके खिलाफ चल रहे सभी मामलों को राज्य सरकार ने वापस लेने का फैसला लिया है. जिलों से आई रिपोर्ट के आधार पर न्याय विभाग ने माना है कि संजय दत्त के खिलाफ ये मुकदमे राजनैतिक विद्वेषवश दर्ज कराए गए थे. इसी के आधार पर न्याय विभाग की ओर से सभी मुकदमे वापस लेने का फैसला लिया गया है. हाईकोर्ट इलाहाबाद में संजय दत्त के मुकदमो की पैरवी करने वाले अधिवक्ता कुंवर सिद्धार्थ ने इसकी पुष्टि की है.

कुंवर सिद्धार्थ के अनुसार संजय दत्त के खिलाफ मऊ, प्रतापगढ़ और बाराबंकी में लोकसभा चुनाव के दौरान मामले दर्ज कराए गए थे. उस समय प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी की सरकार थी. चुनाव प्रचार के दौरान संजय दत्त ने कहा था कि सीएम मायावती को जादू की झप्पी की जरूरत है. वैसे तो यह डायलाग संजय की फेमस फिल्म मुन्ना भाई एमबीबीएस का था लेकिन यह बात बसपा समर्थकों को पसंद नहीं आई. नतीजा प्रतापगढ़ पुलिस ने उनके खिलाफ भड़काऊ भाषण देने समेत कई संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया. यही नहीं मऊ और बाराबंकी में भी कुछ इसी तरह आरोप में उनके खिलाफ कई मामले दर्ज हुए.
यूपी में सत्ता बदलते ही संजय दत्त ने राज्य सरकार से गुहार लगाई थी कि उनके खिलाफ दर्ज सभी मामले फर्जी हैं. राजनीतिक विद्वेष के कारण उन्हें परेशान करने की नीयत से इन्हें दर्ज कराया गया है. लिहाजा इन्हें वापस लिया जाय. संजय दत्त की अर्जी पर न्याय विभाग ने मामलों में संबंधित जिलों के जिलाधिकारियों के माध्यम से जिला शासकीय अधिवक्ता की राय मांगी. तीनों जिलों से आई रिपोर्ट में बताया गया कि ये सभी मुकदमे राजनैतिक विद्वेषवश दर्ज कराए गए हैं. इसी के आधार पर इन्हें वापस लेने का फैसला लिया गया है. मंडे को इस संबंध में विशेष सचिव न्याय विभाग राजेन्द्र कुमार ने मुकदमों को वापस लिए जाने संबंधी आदेश भी जारी कर दिया. अब इन्हें वापस लेने की प्रक्रिया जिला लेवल पर पूरी की जाएगी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.