Asraf raza parvez
Asraf raza parvez

पाकिस्तान के राजनीतिक हालत सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं. पाकिस्तान के वर्तमान प्रधानमंत्री राजा परवेज अशरफ को भी अपदस्थ किया जा सकता है. उनके पूर्ववर्ती यूसुफ रजा गिलानी की तरह उन्हें भी पद से हटाया जा सकता है. इसकी वजह यह है कि उनकी सरकार राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले फिर से खोलने के लिए स्विस अधिकारियों को पत्र लिखने में दिलचस्पी नहीं दिखा रही है. डॉन अखबार की रिपोर्ट में यह बात कही गई है.

अशरफ 27 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए थे और उन्होंने जस्टिस आसिफ सईद खोसा की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय पीठ को आश्वासन दिया था कि वह 18 सितंबर को अगली बार पेश होने के दौरान समाधान लेकर आएंगे. सूत्रों के अनुसार कुछ अधिकारियों ने सुझाव दिया था कि स्विस अधिकारियों को इस प्रकार से पत्र लिखा जाए ताकि सरकार को कोई नुकसान नहीं हो. लेकिन इस सुझाव को खारिज कर दिया गया है.
अब ऐसी संभावना है कि अशरफ कोर्ट में पेश होने पर यह कहें कि वह अकेले नहीं आए हैं, बल्कि पूरी कैबिनेट उनके साथ है और सभी इस बात पर सहमत हैं कि स्विस अधिकारियों को पत्र नहीं लिखा जाए. पूर्व प्रधानमंत्री गिलानी ने भी यही रवैया अपनाया था.
मालूम हो कि राष्ट्रपति जरदारी के खिलाफ दोबारा मामला शुरू करने के संबंध में पत्र लिखने के आदेश का पालन नहीं करने पर सुप्रीम कोर्ट ने गिलानी को अयोग्य करार दिया था और उन्हें प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.