अंबिकापुर – अंबिकापुर में आज से देश का पहला गार्बेज कैफे शुरू होने जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव गार्बेज कैफे का उद्घाटन करेंगे। अगर आपकी जेब में पैसे नहीं हैं तो परेशान न हो, यहां सड़क पर पड़ी प्लास्टिक लाने पर मुफ्त में खाना भी मिल सकेगा।

प्लास्टिक से वातावरण को होने वाले नुकसान को रोकने के लिए छत्तीसगढ़ में एक नई पहल की गई है। छत्तीसगढ़ की अंबिकापुर नगर निगम ने प्लास्टिक कचरे के बदले नागरिकों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए गार्बेज कैफे खोला है।

गार्बेज कैफे 24 घंटे खुला रहेगा। गार्बेज कैफे शुरू होने से पहले ही चर्चा का विषय बना हुआ है। इस प्रयोग की जमकर सराहना हो रही है। अगर आप एक किलो प्लास्टिक लाते हैं तो उसके बदले आपको एक बार का भरपेट खानवा मिलेगा, जबकि 500 ग्राम प्लास्टिक देकर आप ब्रेकफास्ट कर सकते हैं।

इस कैफे में इकट्ठा होने वाले प्लास्टिक को सड़क बनाने के काम में लगाया जाएगा. इससे पहले भी शहर में प्लास्टिक के टुकड़ों और डामर से सड़क बनाई गई है। बजट में इस गार्बेज कैफे के लिए 5 लाख रूपये दिए गए हैं। इसके तहत नगर निगम गरीब और बेघर लोगों को मुफ्त में खाना खिलाएगी।

रिपोर्ट – न्यूज नेटवर्क 24

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.