बिलग्राम(हरदोई) , माधौगंज – थाना क्षेत्र के गांव बरबटापुर निवासी मंशाराम के दो लड़को के मुंडन संस्कार में शामिल होने के लिए गांव से एक ट्रैक्टर ट्रॉली में लगभग पैंतीस से चालीस लोग सवार होकर सुबह हंसी खुशी निकले। यह ट्रॉली गांव से बिलग्राम थाना क्षेत्र के राजघाट गंगा तट पर मुंडन संस्कार करना पूर्व में सुनिश्चित कर चुका था।जिसमें अधिकांश महिला सवार थीं।यह लोग मुंडन संस्कार कराकर वापस कन्नौज बिलग्राम मार्ग पर स्थित ग्राम जलालपुर के पास पावर हाउस के सामने सड़क किनारे अनियंत्रित होकर खाई में पलट गई।

जिसके बाद मची चीखपुकार के बाद स्थानीय लोगों ने राहत व बचाव के कार्य शुरू करने के साथ डायल 100 व स्थानीय कोतवाली पुलिस के साथ एम्बुलेंस को सहायता के लिए बुलवाया।दुर्घटना की सूचना मिलते ही कोहराम मच गया। चीख पुकार सुनकर हर कोई सिहर उठा।ट्रॉली में दबे हुए घायलों को बमुश्किल किसी तरह बाहर निकाल कर स्थानीय सीएचसी पर भेजा गया।वहीं दर्दनाक हादसे की खबर पाकर मौके पर कोतवाल अमरजीत सिंह व उपजिलाधिकारी राम विलास यादव व तहसीलदार अवनींद्र कुमार तत्काल दुर्घटना में घायल हुए लोगों को देखने अस्पताल पहुंचे।

वहीं ट्रैक्टर ट्राली में दब जाने की वजह से गम्भीर रूप से घायल हुए शोभित पुत्र राकेश उम्र 13 वर्ष निवासी नारायन पुरवा बरबटापुर की दर्दनाक मौत हो गई।जबकि घायलों में रामदेवी पत्नी वासुदेव 42 निवासी बर्बटापुर,रूपरानी पत्नी रोशनलाल 50 निवासी हनुमान पुरवा बिल्हौर, शशि पत्नी सर्वेश 40 निवासी सारँगीपुर,रामश्री पत्नी गंगाराम 60 निवासी नरायन पुरवा माधौगंज,संध्या पत्नी कर्मवीर 48 निवासी बर्बटापुर शामिल हैं।

जिनकी हालत देखते हुए उन्हें जिला अस्पताल रैफर किया गया।जिन घायलों का सीएचसी पर इलाज जारी था। उनमें देवेंद्र पुत्र सर्वेश 16 निवासी एकंघिपुर सुरसा,अर्चना पुत्री बंशीलाल 12 निवासी बैफ़रिया बिलग्राम, किरन पत्नी विश्वराज 40 निवासी पिलखना माधौगंज, रामलड़ैती पत्नी लालाराम 40 निवासी पिलखना,अंजना पत्नी शिवराज 40 निवासी पिलखना माधौगंज, नीलम पत्नी सारेन्द्र 32 पिलखना माधौगंज,मनीराम पुत्र नन्दा 50 निवासी नरायन पुरवा माधौगंज, राधाकृष्ण पुत्र गंगा राम 28 नरायन पुरवा माधौगंज हैं।मृतक अपने परिवार में छह बहनों में इकलौता भाई था।

जिसकी इस हृदय विदारक मार्ग दुर्घटना में मौत हो जाने से परिवार में माता पिता बदहवास स्थिति में हैं।दुर्घटना स्थल से लेकर सीएचसी तक कोहराम मचा दिखाई देता रहा।जिसे सुनकर हर कोई स्तब्ध रह गया। लगभग शाम 4 बजे एक और सूचना प्राप्त हुई कि हरदोई रेफर हुए 6 लोगों में रानी पत्नी जीत बहादुर की भी मौत हो गई।

रिपोर्ट – न्यूज नेटवर्क 24

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.