यूपी के संत कबीर नगर विगत दिनों हुई लगातार बारिश की वजह से संत कबीर नगर धनघटा विधानसभा क्षेत्र के कई निचले इलाकों में जल जमा हो गया है । जलजमाव का आलम यह है कि प्राथमिक विद्यालयों में लगा ये पानी इस बात की गवाही दे रहा है, कि इसमें बच्चों का आना जाना इतना खतरनाक साबित हो सकता है । आलम यह है कि बच्चे किसी तरह पानी से होते हुए विद्यालय के कमरों तक किसी तरह जा रहे है , ठीक उसी तरह यहां पढ़ाने वाले अध्यापक पठन-पाठन का कार्य पूरा करते हैं ।

इससे अंदाजा लगाया जा सकता है पानी पिछले 10 दिनों से यूं ही विद्यालय परिसर में सड़ रहा है । उससे उठने वाली दुर्गंध उस में उत्पन्न हो रहे बीमारियों के कीटाणु इन बच्चों को कितना प्रभावित करेंगे । हालांकि इस पूरे मामले को देखते हुए ग्रामीण अपने बच्चों को भेजने से भी घबराते हैं , लेकिन जो बच्चे स्कूल आते हैं वह अपने आप को जोखिम में डालकर सड़े हुए पानी से पारकर शिक्षा की अलख जगाने का काम करते हैं । लेकिन जिम्मेदार ऐसे हैं कि विद्यालय प्रबंधन द्वारा शिकायत के बावजूद उन पर कोई फर्क नहीं पड़ता चाहे बच्चों को कोई संक्रामक बीमारी क्यों ना लग जाए । इन बातों से कोई मतलब नहीं है तभी तो पिछले 10 दिन से जलजमाव की स्थिति को देखते हुए अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गयी । विभाग और स्थानीय प्रशासन की यह लापरवाही कहीं इन मासूम बच्चों पर भारी ना पड़ जाए यह अपने आप में एक बड़ा सवाल है । अब देखने वाली बात यह होगी क्या प्रशासन इन नौनिहालों के बारे में कितनी जिम्मेदारी निभाता है , या फिर यह गरीब मासूम बच्चों को पानी से आने जाने के लिए कितने और दिन गुजारना पड़ेगा ।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.