नई दिल्ली – देश की सबसे सुरक्षित जेल तिहाड़ के बारे में कहा जाता है कि यहां बिना इजाजत परिंदा भी पर नहीं मार सकता, लेकिन ये सिर्फ कहावत है। हक़ीक़त इससे कोसों दूर है। हाल ही में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें दावा किया जा रहा है कि तिहाड़ में बंद कई कैदी जेल महंगे मोबाइल फ़ोन समेत नशीले पदार्थ और नुकीले हथियार रखते हैं।

देश के सबसे सुरक्षित माने जाने वाले तिहाड़ जेल के उस खेल का खुलासा करती हैं कि कैसे पैसे और रसूख के दम पर कैदी जेल के अंदर से अपने गोरखधंधे को अंजाम दे रहे हैं। जांच में पता चला है कि जेल के आस-पास रहने वाले लोग टेनिस बॉल को काटकर उसमें नशीला पदार्थ डालकर अंदर फेंक देते हैं, जो कि फिर कैदियों तक पहुंच जाता है। वहीं, जानकारों के मुताबिक तिहाड़ में कैदियों तक 70 फीसदी सामान तिहाड़ प्रशासन की लापरवाही से तो 30 प्रतिशत मिलीभगत की वजह से मिलता है। जेल में 3 जी जैमर लगा हुआ है और कैदी 4 जी का इस्तेमाल करते हैं जिससे जैमर इन्हें बात करने से रोक नहीं पाता, लेकिन अब जेल प्रशासन ऐसा हाईटेक जैमर लगाने जा रहा है जिससे कैदियों के मोबाइल का नेटवर्क नहीं मिल पाएगा।

तिहाड़ के कैदी बेखौफ होकर जेल में रह कर अपना वीडियो बनाते हैं और फिर सोशल मीडिया के साथ उसको मोबाइल ऐप टिकऑक अपलोड कर देते हैं। यह बात तब सामने आई जब तिहाड़ में बंद एक गैंगस्टर का सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ, जिसके बाद देश का सबसे सुरक्षित जेल सवालों के घेरे में आ गया था। जेल प्रशासन ने इस हरकत पर संज्ञान लेते हुए कहा कि हम इस मामले पर जांच कर रहे हैं, आरोपियों के उपर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

रिपोर्ट – न्यूज नेटवर्क 24 डेस्क

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.