लखनऊ – दिनेश लाल यादव निरहुआ का नाम आजकल आप राजनीति के गलियारों में ज्यादा सुन रहे होंगे लेकिन इसी बीच उनका एक पुराना भोजपुरी गाना विवादों के घेर में आ गया है। पिछले साल ईद के मौके पर भोजपुरी सुपरस्टार दिनेशलाल यादव निरहुआ की फिल्म ‘बॉर्डर’ रिलीज हुई थी, उसी समय ईद के मौके पर ही बॉलीवुड के सुपरस्टार सलमान खान की भी फिल्म रेस-3 भी रिजीज हुई थी, निरहुआ की बार्डर फिल्म को यूट्यूब पर लोगों ने सिर्फ 4 दिन में 56 लाख बार देखा था और यह फिल्म रेस-3 को जबरदस्त टक्कर दी थी।

दिनेश लाल यादव की फिल्म बार्डर में एक से बढ़कर एक डायलॉग्स और भोजपुरी गाने होने के कारण उनकी फिल्म सुपरहिट गई लेकिन उसी फिल्म का एक गाना ‘माई हो ललानवा दे द बाबू हो सुगनवा दे द’ विवादों के घेरे में आ गया है।

‘माई हो ललानवा दे द बाबू हो सुगनवा दे द’ लिरिक्स को लेकर विश्व विख्यात भोजपुरी कवि श्री हरी राम द्विवेदी ने नाराजगी जाहिर किया है। कवि हरी राम द्विवेदी ने कहा,” मेरी एक किताब है, नदियो गईल दुबराय। इसका लोकार्पण 1986 में हुआ था। किताब तो 1985 में ही छप गई थी। उस समय रत्नाकर पांडे जी सांसद थे और राज्य सभा सदस्य भी थे, किताब पर देखिए उनका हस्ताछर भी है। मेरे इस किताब में एक गीत है गुहार, गीत का आखिरी मुखड़ा 1962 के चीन युद्ध के दौरान मैंने लिखा था। जिसे कवि सम्मेलनों में मैंने कम से कम हजार बार पढ़ा है। लोगों को यह गीत बहुत पसंद आती थी। मेरे इस गीत को गायक लाल बिहारी यादव ने रडियो से गाया था, जो बहुत ही प्रसारित हुआ था। लोगों ने बहुत ही पसंद किया था। मेरे इस गीत को निरहुआ ने अपने बार्डर फिल्म में बिना अनुमति ले लिए और मेरे गीत के राइटर प्यारे लाल यादव को बना दिया। प्यारे लाल यादव ने मेरे गाने को आंशिक रुप से बदल दिया।”

निरहुआ के बार्डर फिल्म में भोजपुरी गीतकार पं. हरिराम द्विवेदी का गाना ‘माई हो ललनवा देदा’

कवि हरी राम द्विवेदी कहते हैं कि मेरा मूल गाना था। ‘बहिनी हो विरनवा दै दा , मैया हो ललनवा दै दा। देशवा के करनवा अपने सोनवा क गहनवा दै दा।’ जिसे प्यारे लाल यादव ने बदलकर ‘माई हो ललनवा दै दा, बाबू हो सुगनवा दै दा। देशवा के करनवा, बहिनी हो विरनवा दे दा’ कर दिया। मेरे गीत को बार्डर फिल्म में बिना अनुमति के तोड़ – मरोड़ कर फिल्माया गया है, जिससे मैं मानसिक रुप से परेशान हूं। निरहुआ के इस कृत्य से मैं बहुत आहत हुआ हूं।

हरी राम द्विवेदी का ‘माई हो ललनवा दै दा’ गीत यूट्यूब पर निरहुआ म्यूजिक वर्ल्ड नामक यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया गया है, जिसे अब तक 1 करोड़ से भी ज्यादा लोग देख चुके हैं। गीत के डिस्क्रिप्शन में मेंशन किया गया है कि इस गीत के लेखक प्यारे लाल है और इस गीत को आलोक कुमार ने गाया है। इस गाने का निर्देशन संतोष मिश्रा ने किया है।

साहित्य अकादमी के भाषा सम्मान से सम्मानित होते हुए भोजपुरी गीतकार पं. हरिराम द्विवेदी

सोशल मीडिया पर निरहुआ द्वारा गाना चोरी को लेकर लोग खिल्लियां उड़ा रहे हैं। ट्वीटर यूजर विजय नाथ मिश्रा लिखते हैं कि दिनेश लाल यादव निरहुआ, तो चोर निकला। मेरे चाचा जी एवं विश्व विख्यात भोजपुरी कवि श्री हरी राम द्विवेदी जी का, चीन युद्ध 1962 के समय लिखा, एतिहासिक गीत को अपने बार्डर फिल्म में गा के आनंद ले रहा और पैसा कमा रहा है। प्रदेश सरकार से अपील है कि इस पर कार्यवाही किया जाए।

भोजपुरी गीतकार पं. हरिराम द्विवेदी की खासियत है कि वे विशुद्ध कवि हैं, केवल कविता लिखते हैं। उन्होंने कई रचनाएं कीं जिनमें ‘नदियो गइल दुबराय’ और ‘अंगनइया’ उल्लेखनीय हैं। हिन्दी संस्थान व कई अनेक संस्थाओं से सम्मानित श्री द्विवेदी इस सम्मान को काशी और लोकभाषा की उपलब्धि मानते हैं। भोजपुरी में उत्कृष्ट कार्य के लिए इसके पूर्व साहित्य अकादमी का भाषा पुरस्कार धरीक्षण मिश्र (गोरखपुर) तथा मोती बीए (बरहज, देवरिया) को प्राप्त हो चुका है।

हाल ही में निरहुआ ने उत्तर-प्रदेश के आजमगढ़ जिले से लोकसभा चुनाव में सांसद प्रत्याशी के रुप में राजनीतिक अखाड़े में किरदार निभाना चाहा लेकिन आजमगढ़ से समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव से निरहुआ को कई लाख वोटों से हार का सामना करना पड़ा।

रिपोर्ट – अमित सिंह पालीवाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.