श्रावस्ती – इण्डो-नेपाल डिस्ट्रिक्ट लेविल ज्वाइंट को-आर्डिनेशन कमेटी की 52वीं बैठक 59वीं बटालियन एसएसबी, नानपारा, बहराइच के मुख्यालय अगैय्या सभागार में सम्पन्न हुई। जिसमें नेपाल साइड से सीडीओ बांके कुमार बहादुर, बर्दिया के राम बहादुर कुरूंगबांग व डांग के गोविन्दा रिजाल, पुलिस अधीक्षक नेपाल पुलिस बांके वीर बहादुर ओली, बर्दिया के राजेश नाथ बस्तोला व डांग के जनक भट्टाराई, पुलिस अधीक्षक शस्त्र पुलिस बांके दीपक अधिकारी, बर्दिया के बी.के. यादव व अपर पुलिस अधीक्षक डांग राम बहादुर, पुलिस अधीक्षक इन्विस्टिगेशन बांके कमल प्रसाद भट्टाराई व इस्पेक्टर इन्विस्टिगेशन डांग नेप बहादुर राना सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।

इण्डिया साइड से आयुक्त देवीपाटन मण्डल महेन्द्र कुमार, जिलाधिकारी बहराइच शम्भु कुमार, बलरामपुर के कृषणा करूणेश व श्रावस्ती के ओ.पी. आर्य, पुलिस अधीक्षक बहराइच डा. गौरव ग्रोवर, श्रावस्ती के आशीष श्रीवास्तव, अपर पुलिस अधीक्षक बलरामपुर अरविन्द मिश्रा, अपर जिलाधिकारी बहराइच जयचन्द्र पाण्डेय, मुख्य राजस्व अधिकारी प्रदीप कुमार यादव, प्रभागीय वनाधिकारी बहराइच मनीष सिंह व कतर्नियाघाट के जी.पी. सिंह, उप जिलाधिकारी नानपारा

राम आसरे वर्मा तथा एसएसबी के अधिकारियों सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।
बैठक का शुभारम्भ करते हुए जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने पिछली बैठक में उठाये गये मुद्दो पर दोनों पक्षों की ओर से की गयी कार्यवाही पर संतोष व्यक्त किया। जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने लोक सभा सामान्य निर्वाचन 2019 में सहयोग के लिए नेपाल साइड के अधिकारियों का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए बलहा विधान सभा उप निर्वाचन-2019 को स्वतन्त्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिए नेपाल साइड के समकक्ष अधिकारियों से सहयोग की अपेक्षा की।

जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद बहराइच की विधानसभा बलहा का क्षेत्र नेपाल सीमा से मिला हुआ है। नेपाल से भारत आवागमन के लिए नेपालगंज रूपईडिहा मुख्य मार्ग सहित कुल 25 कच्चे पक्के मार्ग चिन्हित हैं। उन्होंने कहा कि भारत-नेपाल की खुली हुई सीमा के वन क्षेत्र से आच्छादित होने के कारण इसके संवेदनशील और निकासी रास्तों पर दोनों ओर से विशेष चैकसी बरती जाय। उन्होंने सुझाव दिया कि इन क्षेत्रों में संयुक्त रूप से नियमित गश्त किये जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि निगरानी दल का आपस में बेहतर समन्वय एवं संवाद होना चाहिए।

इसके लिए उन्होंने दोनों ओर के जिम्मेदार अधिकारियों के टेलीफोन नम्बर एक-दूसरे के पास सुरक्षित रखे जाने का भी सुझाव दिया।आयुक्त देवीपाटन मण्डल महेन्द्र कुमार ने दोनों साइड के अधिकारियों को सुझाव दिया कि ज्वाइंट को-आर्डिनेशन कमेटी की बैठक से पूर्व सीमा क्षेत्र में कार्य करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों के साथ बैठक कर उनसे क्षेत्र की समस्याओं के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी प्राप्त कर लें ताकि इस बैठक में उन बिन्दुओं पर चर्चा की जा सके। साथ ही उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि प्रत्येक तीन माह के अन्तराल पर सीमावर्ती जनपदों के पुलिस अधीक्षक व 02 माह के

अन्तराल अपर पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी शिष्टार भेंट कर लिया करें। पुलिस अधीक्षक डा. गौरव ग्रोवर ने विधानसभा उप निर्वाचन-2019 को शान्तिपूर्ण वातावरण में सम्पन्न कराये जाने के लिए विधानसभा क्षेत्र के सीमावर्ती क्षेत्रों के नो मैन्सलैण्ड एरिया से सटे हुए क्षेत्रों में प्रिवेन्टिव एक्शन को कड़ाई से लागू करने का सुझाव दिया। बैठक में नेपाल साइड से सीडीओ बांके कुमार बहादुर व बर्दिया के राम बहादुर कुरूंगबांग ने आश्वस्त किया कि स्वतन्त्र एवं निष्पक्ष उप निर्वाचन-2019 के लिए हर संभव सहयोग दिया जायेगा। बैठक अत्यन्त सौहार्दपूर्ण वातावरण में सम्पन्न हुई।

बैठक के दौरान उप निर्वाचन 2019 के दृष्टिगत आचार संहिता के सम्बन्ध में संचार माध्यम व एफ.एम. रेडिया के प्रसारण, मतदान से 48 घण्टे पूर्व सीमा सील किये जाने, आवागमन के मार्गो पर बैरियर की स्थापना एवं सघन जाॅच, सीमा पर गश्त के साथ पिकेट व्यवस्था, वांछित अपराधियों एवं अराजकतत्वों के विरूद्ध निरोधात्मक कार्रवाई, अवैध शस्त्रों, मादक पदार्थों, जाली नोटों, खाद्य पदार्थ, उवर्रक, पशु व मानव तस्करी, वनों वन्य जीवों से सम्बन्धित अपराधों, आईएसआई व फण्डामेन्टलिज़्म गतिविधियों के सम्बन्ध में विचार विमर्श किया गया। बैठक के अन्त में पुलिस अधीक्षक बहराइच ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

रिपोर्ट – न्यूज नेटवर्क 24

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.