अयोध्या- जिले के सब्जी मंडी में बीते चार दिनों के अंदर प्याज के आसमान छूते दाम ने गृहणियों के होश उड़ा दिए हैं। बाजार में 35 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बिकने वाली प्याज अब थोक में 50 और फुटकर में 60 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बिक रही है। ऐसी किल्लत स्थानीय मंडी में प्याज खत्म होने से हुई है। अब जिले के व्यापारियों को नासिक की प्याज का भरोसा है। अचानक दाम में आए उछाल से ग्राहकों में खलबली मच गई है।

चार दिनों पूर्व स्थानीय बाजार में देशी प्याज 35 व 40 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बिक रही थी जिसमें अब अचानक उछाल आ गया है। इसका प्रमुख कारण है कि स्थानीय मंडी में प्याज समाप्त होना है। अब नासिक से प्याज आ रही है जिसकी कीमत थोक की 44 रुपये प्रति किलो है जिसे स्थानीय व्यापारी अब थोक में 50 व फुटकर में 60 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बेच रहे हैं।

आजादपुर मंडी ओनियन ट्रेडर्स असोसिएशन के पदाधिकारी श्रीकांत के अनुसार प्याज की सप्लाई काफी कम है। इस मौसम में नई फसल का स्टॉक आंध्र प्रदेश और कर्नाटक से आता है। लेकिन, बारिश के चलते प्याज का स्टॉक खराब हो चुका है। इससे इन दोनों राज्यों से प्याज न के बराबर आ रहा है।

ऑनियन मर्चेट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट राजेंद्र शर्मा ने बताया कि आने वाले दिनों में प्याज 20 रुपये और महंगा हो सकता है। इसकी वजह मध्यप्रदेश, नासिक और दक्षिण भारतीय राज्यों से प्याज की आवक कम होना है। इन राज्यों में भारी बारिश से प्याज की आपूर्ति काफी कम हो गई है। इससे आने वाले दिनों में प्याज की कीमत 80 से 90 रुपये तक पहुंच सकती है।

मंडियों में नासिक, अलवर और मध्य प्रदेश से आए हुए प्याज के पुराने स्टॉक हैं। प्याज की डिमांड अधिक है। इसके चलते ही कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है। महाराष्ट्र और राजस्थान से प्याज की नई खेप नवंबर तक आएगी। करीब दो-तीन महीनों तक प्याज की कीमतों में कमी के आसार नहीं दिख रहे हैं।

रिपोर्ट – न्यूज नेटवर्क 24

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.