बेंगलुरु-  केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार सुबह स्‍वदेशी हल्‍के लड़ाकू विमान में सफल उड़ान भरी। उड़ान भरने के बाद राजनाथ सिंह ने ट्वीट करके कहा, ‘बेंगलुरु के एचएएल हवाई अड्डे से स्‍वदेशी हल्‍के लड़ाकू विमान तेजस में उड़ान भरना एक अद्भुत और शानदार अनुभव था।’ राजनाथ सिंह इस विमान में उड़ान भरने वाले पहले रक्षा मंत्री हैं। राजनाथ सिंह ने तेजस से उड़ान भरने के बाद कहा ‘आज हम ऐसी स्थिति में पहुंच गए हैं जहां हमें दूसरे देशों से भी तेजस जैसे एयरक्राफ्ट के ऑर्डर मिल रहे हैं।

यह स्वदेशी विमान है, इसलिए मेरा हमेशा से इसकी उड़ान का अनुभव लेने का मन था। मैंने भी कुछ समय के लिए एयरक्राफ्ट कंट्रोल किया। इसकी उड़ान काफी आरामदायक थी, इसके करतब को देखकर मैं कह सकता हूं कि हमें हमारे देश के वैज्ञानिकों, डीआरडीओ और सभी संस्थानों पर गर्व होना चाहिए।’ एचएएल बना रहा विमान रक्षा मंत्री की यह उड़ान इसीलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि इस विमान का निर्माण स्वदेश में ही एचएएल द्वारा किया जा रहा है। इससे पहले बीते शुक्रवार को ही तेजस ने अपनी ताकत का लोहा मनवाया था।

इस लड़ाकू विमान के नौसेना संस्करण की सफल अरेस्ट लैंडिंग करवाई गई थी। ये है तेजस की विशेषता तेजस की तकनीकि विशेषताओं पर गौर किया जाए तो पता चलता है कि तेजस एक लाइट कांबैट एयरक्राफ्ट है। इसकी सर्वाधिक स्पीड 1.6 मैक है। 2000 किमी की रेंज को कवर करने वाले तेजस का अधिकतम थ्रस्ट 9163 केजीएफ है। इसमें ग्लास कॉकपिट, हैलमेट माउंटेड डिस्प्ले, मल्टी मोड रडार, कंपोजिट स्ट्रक्चर और फ्लाई बाई वायर डिजिटल सिस्टम जैसे आधुनिक फीचर मौजूद हैं। इस जेट पर दो आर-73 एयर-टू-एयर मिसाइल, दो 1000 एलबीएस क्षमता के बम, एक लेजर डेजिग्नेशन पोड और दो ड्रॉप टैंक्स तैनात रहती है।

रिपोर्ट – न्यूज नेटवर्क 24

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.