sim card
sim card validity limited for non Indian people
sim card
sim card validity limited for non Indian people

टूर पर इंडिया आने वाले विदेशी पर्यटकों को अब आजीवन इस्तेमाल वाला मोबाइल नंबर देने पर रोक लगा दी गई है. दूरसंचार विभाग (डॉट) ने टेलीकॉम कंपनियों को नई गाइडलाइंस जारी करते हुए निर्देश दिया है कि वे तीन माह से ज्यादा वैधता वाले सिम किसी विदेशी को न इश्यू करें. पर्यटन वीजा पर भारत आए लोगों का वीजा वैध होने के बावजूद उन्हें लाइफटाइम वैलेडिटी का नंबर नहीं दिया जाएगा.
डॉट के दिशा-निर्देशों के मुताबिक पर्यटकों को दिए जाने वाले सिम की वैधता तीन माह ही होगी, भले ही उनका वीजा इससे ज्यादा समय के लिए हो. इन दिशानिर्देशों को गृह मंत्रालय की सिफारिश पर जारी किया गया है. यह निर्देश तत्काल प्रभाव से लागू हो गए हैं. आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, विदेशी नागरिकों के भारत छोड़कर जाने के बाद उनके सिम कार्ड का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है.
अब विदेशियों को सिम कार्ड लेने के लिए किसी स्थानीय व्यक्ति का पता भी देना होगा. इसमें टूर ऑपरेटर भी शामिल है. स्थानीय व्यक्ति से जान पहचान न होने पर उस जगह का पता देना होगा, जहां पर्यटक रह रहा है. इसके अलावा जहाजों पर तैनात लोगों का सिम तभी तक वैध माना जाएगा, जब तक पत्तन पर रहने का उनका परमिट है. टेलीकॉम कंपनियों को इन छोटी अवधि के सिम बिक्री की जानकारी हर महीने डॉट को अलग से देनी होगी.
फॉर्म पर दी हुई जानकारियां सही पाई जाने के बाद ही सिम कार्ड एक्टिवेट किया जाएगा. सिम की बिक्री और एक्टिवेशन की तिथि फॉर्म में दर्ज करनी होगी. संयुक्त विशेष समिति की सिफारिशों पर सुप्रीम कोर्ट से निर्देश मिलने के बाद ही नए गाइडलाइन जारी किए गए हैं. अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा एजेंसियां प्री-पेड सिम कनेक्शन देने में लगातार कोताही बरत रही टेलीकॉम कंपनियों के रवैये को लेकर चिंता जताती रही हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.