रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह दो देशों की पांच दिवसीय यात्रा पर सोमवार को टोकियो पहुंचे। जहां उन्होंने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से मुलाकात की और दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों पर बातचीत की। इस दौरान राजनाथ सिंह ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Article) हटाए जाने को लेकर भी शिंजो आबे से बात की और इस मुद्दे पर भारत के पक्ष से उन्हें अवगत कराया।

अधिकारियों ने बताया राजनाथ सिंह ने आबे को यह भी बताया कि जम्मू कश्मीर में दखल का पाकिस्तान को कोई अधिकार नहीं है और वह भारत का अभिन्न अंग है। रक्षा मंत्री पांच दिवसीय यात्रा पर जापान और दक्षिण कोरिया गए हुए हैं। रक्षा मंत्री स्तर की वार्षिक वार्ता में सिंह और इवाया ने भारत-जापान रक्षा सहयोग के सभी पहलुओं पर चर्चा की। दोनों ने द्विपक्षीय रक्षा सहयोग को और बढ़ाने तथा क्षेत्र में शांति व सुरक्षा हासिल करने के लिये नये तरीकों को अपनाने का संकल्प लिया।

राजनाथ सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा कि ‘जापान के रक्षा मंत्री ताकेशी इवाया के साथ तोक्यो में बेहद उपयोगी मंत्रीस्तरीय वार्ता हुई। हमने भारत-जापान रक्षा सहयोग के सभी पहलुओं पर चर्चा की। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘हिंद प्रशांत को लेकर नजरिये पर विस्तार से चर्चा हुई और भारत ने नियम आधारित व्यवस्था की अपनी पसंद को व्यक्त किया जिसमें आसियान केंद्र में हो और सभी के लिये सुरक्षा तथा समावेशी माहौल हो। रक्षामंत्री के साथ एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी गया है। वह दक्षिण कोरियाई प्रधानमंत्री ली नाक-योन से भी मुलाकात करेंगे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.