नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि एवं राज्य के पूर्व मुख्य सचिव एस सी बेहार से चर्चा के बाद अपना अनशन और धरना आंदोलन समाप्त कर दिया। बड़वानी जिले के छोटा बड़दा पहुंचे बेहार ने पाटकर को नींबू पानी पिलाकर कल देर रात उनका अनशन समाप्त कराया। पाटकर के साथ अनशन पर बैठे नर्मदा बचाओ आंदोलन के छह अन्य कार्यकर्ताओं ने भी अपना अनशन खत्म किया, जिनमें चार महिलाएं शामिल थीं।

सोमवार की देर शाम मुख्यमंत्री कमलनाथ के प्रतिनिधि के रूप में छोटा बड़दा आये पूर्व मुख्य सचिव बेहार ने धरनास्थल पर पहुंचकर पाटकर और उनके साथियों से चर्चा कर उन्हें मुख्यमंत्री के संदेश और सरदार सरोवर परियोजना के जलस्तर को कम करवाने के प्रयासों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। बेहार ने पाटकर और डूब प्रभावितों से भी चर्चा कर पूरी जानकारी ली।

बेहार ने अनुरोध किया कि पाटकर और अन्य साथी अपने स्वास्थ्य एवं मध्यप्रदेश सरकार के पूर्ण समर्थन को देखते हुए अपना अनशन और धरना समाप्त कर दें। इसके बाद तय हुआ कि पाटकर और साथी 9 सितम्बर को भोपाल में नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण (एनवीडीए) के पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। बैठक में उनके मुद्दों का निराकरण नहीं होने पर भोपाल में अपने अगले कदम का निर्णय लिया जाएगा।

पाटकर और उनके साथी 25 अगस्त से अनशन और धरना आंदोलन पर थे। सरदार सराेवर बांध जलाशय से जुड़े मुद्दे को लेकर पाटकर और उनके समर्थकों का आंदोलन चल रहा है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.