Dr A P J Kalam
Dr A P J Kalam on corruption

देश में व्याप्त भ्रष्टाचार के विरोध में पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने भी आवाज उठा दी है. रविवार को कोलकाता में उन्होंने कहा कि देश से भ्रष्टाचार के खात्मे के लिए घर-घर से आवाज उठानी होगी और हर घर को भ्रष्टाचार से मुक्त होना होगा. हर स्तर पर भ्रष्टाचार का उन्मूलन जरूरी है, तभी आर्थिक एवं सामाजिक रूप से देश की मुकम्मल तरक्की मुमकिन है. उन्होंने असम हिंसा पर गहरी चिंता जताई. साथ ही कहा कि भारत ‘फिफ्थ नेशन सिंड्रोम’ से ग्रस्त है, उसे इससे बाहर आना चाहिए. किसी भी तरह का वैज्ञानिक कार्यक्रम चलाने के बाद ऐसा करने वाला वह चौथा या पांचवां देश होता है.

कलाम रविवार को सीएसआइआर-सेंट्रल ग्लास एंड सेरेमिक रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीजीसीआरआइ) के स्थापना दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. कलाम ने कहा कि असम हिंसा देश के लिए अत्यंत चिंता का विषय है. देश के विभिन्न धड़ों को एकजुट होना चाहिए. हम सबको देखना चाहिए कि सब एक साथ आएं, क्योंकि विचारों में एकरूपता अहम है. हमें मिले-जुले समाज की जरूरत है.
मिसाइलमैन कलाम ने कहा कि भारत ‘फिफ्थ नेशन सिंड्रोमÓ से ग्रसित है. भारत जब भी कोई अंतरिक्ष या परमाणु कार्यक्रम जैसे बड़े मिशन की शुरुआत करता है तो ऐसा करने वाला चौथा या पांचवां देश होता है. देश को इस ग्रंथि से बाहर आना चाहिए. अंतरिक्ष या परमाणु कार्यक्रम जैसे मिशन शुरू करने में पांचवें नंबर के देश जैसी स्थिति से आगे बढ़ते हुए भारत को पहला स्थान हासिल करने का प्रयास करना चाहिए.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.