न्याय में देरी भी अन्याय ही माना जाता है, जिसका एक ओर जीता जागता उदाहरण है चर्चित पहलू खान का मामला, जिसमें आज अलवर डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। सभी 6 आरोपियों को सबूतों में कमी के आधार पर बरी कर दिया है।

हालांकि पीडि़त के वकील ने कहा है कि वे ऊपरी अदालत में इस मामले को चुनौती देंगे। लेकिन फिलहाल जिस पहलू खान की मौत की गूंज देश भर में सुनी गई उसमें देरी होने से लोगों ने निराशा जताई है।

पहलू खान मामले में लोअर कोर्ट का फैसला चौंका देने वाला है। हमारे देश में अमानवीयता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए और भीड़ द्वारा हत्या एक जघन्य अपराध है।

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने देश के बहुचर्चित पहलू खान मामले में कोर्ट के फैसले पर हैरानी जताते हुए कहा कि लोअर कोर्ट का फैसला बिल्कुल चौंका देने वाला है। भारत में अमानवीयता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए और भीड़ द्वारा हत्या एक जघन्य अपराध है।

साथ ही राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की तारीफ करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि राजस्थान सरकार द्वारा भीड़ द्वारा हत्या के खिलाफ कानून बनाने के लिए की गई पहल की सराहना की है। उन्होने उम्मीद जताई है कि पहलू खान के मामले में न्याय दिलाकर सरकर इसका अच्छा उदाहरण पेश करेगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.