लोकसभा चुनाव में मिली करारी के बाद समाजवादी पार्टी इन दिनों अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रही है। हालत यह है कि नेता पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो रहे हैं। शनिवार को सपा के दो पूर्व राज्यसभा सांसदों ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। संजय सेठ और नागर ने पिछले दिनों ही समाजवादी पार्टी से इस्तीफा दिया था। इसके बाद से ही अटकलें लगाई जा रही थीं कि वे बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। बता दें कि संजय सेठ को समाजवादी पार्टी के संस्थापक और संरक्षक मुलायम सिंह यादव का काफी करीबी माना जाता रहा है। पिछले एक महीने में समाजवादी पार्टी और राज्यसभा से इस्तीफा देने वाले संजय सेठ तीसरे सांसद हैं। इससे पहले नीरज शेखर और सुरेंद्र नागर ने भी राज्यसभा और एसपी से अपना इस्तीफा दे दिया था। नीरज शेखर पहले ही बीजेपी जॉइन कर चुके हैं।

संजय सेठ का कार्यकाल 2022 में खत्म होना था

संजय सेठ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष भी थे। उनके यादव परिवार के साथ बहुत ही पारिवारिक संबंध थे। सेठ का कार्यकाल 2022 तक था। संजय सेठ सेंट्रल उत्तर प्रदेश में सबसे बड़े बिल्डरों में से एक हैं। बताया जाता है कि संजय सेठ मुलायम सिंह यादव के छोटे बेटे प्रतीक यादव के बिजनस पार्टनर भी हैं। संजय सेठ के इस्तीफा देने के बाद राज्यसभा में एसपी के सिर्फ दस सांसद रह गए हैं।

कांग्रेस के नेता भी छोड़ रहे पार्टी

उधर, कांग्रेस के भी नेता लगातार पार्टी छोड़ रहे हैं। पिछले दिनों गांधी परिवार के करीबी रहे संजय सिंह ने राज्यसभा से इस्तीफा देकर बीजेपी जॉइन किया था। उसके बाद पार्टी नेता भुबनेश्वर कलिता ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद कलिता भी बीजेपी में शामिल हो गए थे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.