cheteshwar puzara hits first century
cheteshwar puzara hits his first test century

न्यूजीलैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में जब भारत बल्लेबाजी के लिए उतरा तो सभी यह सोच रहे थे कि टीम में राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण जैसे धुरंधरों की जगह भर पाएगी या नहीं लेकिन मैच के पहले ही दिन गुरुवार को चेतेश्वर पुजारा ने नाबाद शतक (119) और विराट कोहली ने अद्र्धशतक (58) लगाकर दिखा दिया कि वह इन दोनों महान बल्लेबाजों की जगह लेने को तैयार हैं.

सबसे खास बात यह रही कि पुजारा ने नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते हुए उसी कलात्मकता के साथ बल्लेबाजी की जैसी राहुल द्रविड़ किया करते थे जबकि विराट ने नंबर पांच पर उतरकर वेरी-वेरी स्पेशल लक्ष्मण की कमी खलने नहीं दी. भारत ने दिन का खेल खत्म होने तक पांच विकेट के नुकसान पर 307 रन बना लिए थे. पुजारा क्रीज पर कप्तान महेंद्र सिंह धौनी के साथ (29) डटे हुए थे.
खराब रोशनी के कारण दिन का खेल तीन ओवर पहले ही समाप्त कर दिया गया. 10वें ओवर में गौतम गंभीर का विकेट गिरने के बाद विकेट पर आए पुजारा ने अपनी कलात्मक शैली और संयम का जोरदार परिचय देते हुए  राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में पूरे दिन बल्लेबाजी की. वह 226 गेंदों पर 15 चौके और एक छक्का लगाकर नाबाद लौटे.धौनी ने खेल खत्म होने पर मैदान से बाहर जाते वक्त पुजारा की पीठ थपथपाई. धौनी ने अपनी 37 गेंदों की पारी में दो चौके और एक छक्का जड़ा. इन दोनों ने छठे विकेट के लिए 47 रन जोड़कर भारत का स्कोर 300 के पार पहुंचाया.
इससे पहले भारत ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया. गौतम गंभीर और वीरेंद्र सहवाग ने संभलकर खेलते हुए पहले विकेट के लिए 49 रन जोड़े. गंभीर को ट्रेंट बोल्ट ने विकेटकीपर क्रूगर वेन के हाथों कैच कराया. गंभीर ने 36 गेंदों पर चार चौकों की मदद से 22 रन बनाए. इसके बाद 77 रन के कुल योग पर सहवाग भी अपना संयम खो बैठे और 47 रन बनाकर आउट हुए. सहवाग ने अपनी आकर्षक पारी में 41 गेंदों का सामना करते हुए नौ चौके लगाए और भारत के रन रेट को बेहतर बनाए रखा. सहवाग के आउट होने के बाद पुजारा ने सचिन तेंदुलकर (19) के साथ स्कोर को 125 तक पहुंचाया लेकिन टीम का रन रेट काफी नीचे चला गया. भारत भोजनकाल तक दो विकेट पर 97 रन ही बना सका था. सचिन को 19 रन के निजी योग पर बोल्ट ने बोल्ड किया. तेंदुलकर ने 62 गेंदों पर दो चौके लगाए.
सचिन के लौटने के बाद कोहली ने पुजारा का अच्छा साथ दिया और 107 गेंदों पर आठ चौकों की मदद से 58 रन जोड़े. कोहली और पुजारा ने चौथे विकेट के लिए 3.75 के औसत से 125 रन जोड़े. कोहली का विकेट 250 रन के स्कोर पर गिरा. इसी बीच, पुजारा ने अपने करियर का पहला शतक पूरा किया. द्रविड़ के स्थान पर आए पुजारा ने इस मौके को दोनों हाथों से लपका. पुजारा के साथ दूसरे छोर पर खड़े सुरेश रैना (3) ने उन्हें बधाई दी और उनकी हौसलाअफजाई भी की. पवेलियन में भारतीय खिलाडिय़ों ने खड़े होकर तालियां बजाईं और अपने युवा साथी का अभिवादन स्वीकार किया. न्यूजीलैंड की ओर से बोल्ट ने दो जबकि ब्रासवेल, क्रिस मार्टिन और जीतन पटेल ने एक-एक विकेट झटका है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.