जम्मू-कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बनाए जाने और धारा 370 को हटाने का कांग्रेस पार्टी ने विरोध किया है। राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने इस विरोध की अगुवाई की है। इस बीच गुलाम नबी आजाद आज श्रीनगर दौरे पर जा सकते हैं, जहां पर वह कांग्रेस नेताओं के साथ इस मसले पर बैठक कर सकते हैं। कश्मीर जाने से पहले आजाद ने अजित डोभाल के वीडियो पर निशाना साधा है, उन्होंने कहा कि आप पैसा देकर किसी को भी साथ ला सकते हैं।जब गुलाम नबी आजाद से पूछा गया कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार कश्मीर में आम लोगों से मिल रहे हैं, इस पर आजाद ने कहा, ‘पैसे देकर आप किसी को भी साथ ले सकते हैं।’ आजाद ने कहा कि कश्मीर के लोगों पर कर्फ्यू लगाकर कानून बनाया गया है, भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है।

वहीं गुलाम नबी आजाद के बयान पर बीजेपी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। भारतीय जनता पार्टी के नेता शहनवाज हुसैन ने कहा कि गुलाम नबी आजाद को इस बयान के लिए देश के लोगों से माफी मांगनी चाहिए। हुसैन ने कहा कि ऐसे बयानों को ही भारत के खिलाफ इस्तेमाल करता है पाकिस्तान। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कुछ नेता पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं।

आपको बता दें कि सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल इन दिनों कश्मीर में हैं। वहां शोपियां में आम लोगों से मुलाकात की थी। वह कुछ जगह आम लोगों के साथ खाना खाते हुए भी नजर आए थे। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार धारा 370 हटाने के बाद से ही कश्मीर में हैं। उन्होंने जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों से भी मुलाकात की।

आजाद ने कहा कि एनडीए सरकार का फैसला काफी शर्मनाक है, उन्होंने एक राज्य का अस्तित्व ही खत्म कर दिया है। कांग्रेस में इस मसले को लेकर विवाद है, कई नेताओं ने धारा 370 को कमजोर करने का समर्थन किया है। इस बीच गुलाम नबी आजाद का ये दौरा महत्वपूर्ण हो सकता है, क्योंकि वह स्थानीय नेताओं के साथ हालात पर बैठक कर सकते हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.