आम बजट में बढ़ाए गए सीमा शुल्क के कारण सोने के दामों में बढ़ोतरी हो गई है। आज सोने का रेट 1300 रुपये बढ़कर 35470 रुपये प्रति 10 ग्राम पहुंच गया। पहले ये रेट 34 हजार के करीब था। सोने के रेट में ये वृद्धि उन लोगों के लिए मुसीबत का कारण जिन्होंने विवाह के लिए गहने बनवाने हैं। दरअसल शुक्रवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में सोने और अन्य बहुमूल्य धातुओं पर सीमा शुल्क 10 से बढ़ाकर 12.5 प्रतिशत करने का प्रस्ताव किया। सरकार ने यह प्रस्ताव ऐसे समय में दिया है जबकि घरेलू आभूषण उद्योग आयात शुल्क में कटौती की मांग कर रहा था। पूर्व में वाणिज्य मंत्रालय भी आयात शुल्क में कटौती की सिफारिश कर चुका है।

इससे पहले बजट में सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल पर दो-दो रुपये शुल्क बढ़ाने से शनिवार को इनकी कीमत करीब ढ़ाई रुपये बढ़ गयी।राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 2.45 रुपये बढ़कर 72.96 रूपये प्रति लीटर पर पहुंच गया यह आठ मई के बाद का इसका उच्चतम स्तर है। देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कारर्पोरेशन से मिली जानकारी के अनुसार यहां डीजल भी 2.36 रुपये महंगा होकर 66.69 रुपये प्रति लीटर हो गया जो चार मई के बाद का इसका उच्चतम स्तर है। सरकार ने पेट्रोल डीजल पर विशेष अतिरिक्त उत्पाद शुल्क एक-एक रुपये और सड़क एवं ढांचागत उपकर एक-एक रुपये बढ़ाया है। इससे देश के अन्य हिस्सों में भी दोनों जीवाश्म ईधनों के दाम बढ़े है।

विदेशों में सप्ताहांत पर सोने में रही बड़ी गिरावट भी स्थानीय बाजार में पीली धातु को बढ़त में जाने से नहीं रोक सकी। लंदन एवं न्यूयॉर्क से मिली जानकारी के अनुसार, शुक्रवार को सोना हाजिर 23.10 डॉलर लुढ़ककर 1,399.65 डॉलर प्रति औंस रह गया। अगस्त का अमेरिकी सोना वायदा 19.70 डॉलर की गिरावट के साथ बाजार बंद होते समय 1,401.20 डॉलर प्रति औंस पर रहा। बाजार विश्लेषकों ने बताया कि अमेरिका में रोजगार के मजबूत आँकड़े आने से सोने पर दबाव रहा। वहाँ जून में एक बार फिर बेरोजगारी में अच्छी गिरावट आयी है। शुक्रवार को जारी इस आँकड़े से अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में कटौती की संभावना कम हुई है और सोने पर दबाव बढ़ा है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सप्ताहांत पर चाँदी हाजिर भी 0.34 डॉलर लुढ़ककर 14.97 डॉलर प्रति औंस रह गयी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.