दुनियाभर में मशहूर बिजनेस समूह गोदरेज परिवार में आजकल कुछ ठीक नहीं चल रहा है। बिजनेस पॉलिसी और जमीन को लेकर परिवार के सदस्यों की अलग-अलग सोच सामने आ रही है। मीडिया रिपोट्र्र्स के मुताबिक परिवार के पास मुंबई के विखरोली में 1,000 एकड़ का भूखंड है जिसको डेवलप किया जा सकता है। इसकी कीमत करीब 20 हजार करोड़ रुपये है।  विखरोली में गोदरेज परिवार की कुल 3,400 एकड़ जमीन है। मीडिया रिपोट्र्स के सूत्रों के मुताबिक इस जमीन के बंटवारे के लिए गोदरेज ऐंड बॉयस के चेयरमैन जमशीद गोदरेज ने जेएम फाइनेंशि‍यल से जुड़े दिग्गज इनवेस्टमेंट बैंकर निमेश कम्पानी और एजेबी पार्टर्नस के वकील जिया मोदी की सलाह ले रहे हैं।

सूत्रों ने बताया कि परिवार ने कुछ फैमिली अग्रीमेंट्स में बदलाव की जटिल प्रक्रिया समझने और नए करार करने के लिए बाहरी सलाहकारों की मदद ली है।  दरअसल परिवार में भविष्य की कारोबारी रणनीति को लेकर मतभेद उभर रहे हैं। जमशेद गोदरेज और उनके चचेरे भाइयों, आदि एवं नादिर गोदरेज, की अलग-अलग सोच के चलते मतभेद सामने आ रहे हैं, जिनके कारण कुछ फैमिली अग्रीमेंट्स में बदलाव के तरीके तलाशे जा रहे हैं। जमशेद गोदरेज जमीन के बहुत ज्यादा डिवेलपमेंट के पक्ष में नहीं हैं लेकिन उनके चचेरे भाई आदि गोदरेज एवं नादिर गोदरेज की सोच इससे अलग है। इससे पहले गोदरेज प्रॉपर्टीज ने कहा था कि वह मुंबई में एक बड़ी डिवेलपर कंपनी बनना चाहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.