अमेरिका में घटते तेल भंडारों तथा यूरो क्षेत्र की आर्थिक विकास दर के ताजा आंकडों की प्रतिक्षा कर रहे अंतर्राष्ट्रीय बाजार में मंगलवार को कच्चे तेल की कीमतें 113 डॉलर प्रति बैरल पर टिकी रहीं। लंदन ब्रेंट क्रूड का वायदा 113.99 डॉलर प्रति बैरल बोला गया। मई के बाद से यह इसका सबसे ऊंचा स्तर रहा। अमेरिकी स्वीट क्रूड 93.23 डॉलर प्रति बैरल पर रहा।तेल कारोबारियों के अनुसार अमेरिकन पेट्रोलियम इंस्टीट्यूट की ओर से आज जारी होने वाले आंकडों के मुताबिक देश के तेल भंडारों में 10 अगस्त को समाप्त सप्ताह में 16 लाख बैरल की कमी आई है। अमेरिकी तेल भंडारों में यह लगातार तीसरे सप्ताह गिरावट दर्ज हुई है। कारोबारियों के मुताबिक यूरो क्षेत्र के ताजा जीडीपी आंकडों से इस क्षेत्र में आगे तेल मांग की तस्वीर साफ हो सकेगी। यदि जीडीपी दर कमजोर रही तो इससे डॉलर मजबूती लेगा जिससे तेल कीमतों पर दबाव पड़ सकता है क्योंकि तेल कारोबार पूरी तरह डॉलर में होता है यदि आंकडे़ बेहतर आए तो तेल के भाव ऊपर चढेंगे। फिलहाल तेल के दाम इजरायल के कारण मजबूती पर हैं। ईरान और इजरायल के बीच बढ़ते तनाव से आगे आपूर्ति घटने की आंशका बनी हुई है। तेल विशेषज्ञों के मुताबिक ईरान और इजरायल के बीच तनाव से ब्रेंट क्रूड अभी कुछ और दिन 110 से 115 डॉलर प्रति बैरल के आसपास बना रहेगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.