अलीगढ़ में टप्पल इलाके में बच्ची के साथ हुई हत्या के मामले में पुलिस ने कहा, ‘हम इस मामले की जांच राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत करेंगे और इस केस को फास्ट ट्रैक कोर्ट में भेजेंगे।’ यहां एक ढाई साल की बच्ची की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी और फिर क्षत-विक्षत शव को कूड़े में फेंक दिया गया था। इतनी घिनौनी और भयावह वारदात के पीछे की वजह महज 10,000 रुपये है। मृत बच्ची के पिता ने 10,000 रुपये का कर्ज लिया था। जब वो उसे नहीं चुका पाया तो आरोपियों ने बच्ची को अगवा कर लिया। तीन दिन बाद घर के पास के कूड़ाघर में बच्ची का शव मिला।

बच्ची की रेप की आशंका को लेकर अलीगढ़ के एसपी आकाश कुलहरी ने कहा है कि बच्ची की मौत गला दबाकर की गई और उसके साथ रेप नहीं हुआ है। पुलिस के दावे के मुताबिक इस बात का खुलासा पोस्टमार्टम के जरिए हुआ है। निर्ममता से की गई ढाई साल की मासूम की हत्या के केस में कार्रवाई करते हुए एक इंस्पेक्टर, एक सिपाही और तीन दरोगा को निलंबित कर दिया गया है। इससे पहले दो लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस के मुताबिक, आरोपियों पर रासुका लगाने की तैयारी है जबकि मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाया जाएगा। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, इस मामले में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने ट्वीट करके दुख जताया है।

मामला दो समुदायों से जुड़ा होने की वजह से मौके पर बड़े पैमाने पर पुलिस बल को तैनात किया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने गुरुवार को बताया था कि गत 31 मई को टप्पल से लापता हुई तीन साल की बच्ची का क्षत-विक्षत शव गत दो जून को उसके घर के पास एक कूड़े के ढेर में दबा पाया गया था। बच्ची के पिता बनवारी लाल शर्मा की शिकायत पर जाहिद और असलम नामक व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया था।

उनसे पूछताछ में पता चला है कि दोनों आरोपियों का बच्ची के पिता से धन के लेन-देन को लेकर झगड़ा हुआ था। कुलहरि ने बताया था कि बच्ची की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्ची से रेप की बात सामने नहीं आई है। उसकी गला दबाकर हत्या की गयी है। उन्होंने कहा कि वारदात की गम्भीरता को देखते हुए दोनों अभियुक्त पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लगाए जाने की कार्यवाही शुरू कर दी गयी है। मामले की फास्ट ट्रैक अदालत में सुनवाई कराये जाने की भी प्रक्रिया शुरू की गयी है। कुलहरि ने बताया कि मामला दो समुदायों से जुड़ा होने की वजह से कल पैदा हुए तनाव के मद्देनजर बड़ी संख्या में पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.