नई दिल्ली। वस्तु एवं सेवाकर (जी.एस.टी.) लागू होने के बाद प्रत्येक भारतीय परिवार को हर माह औसतन 320 रुपए की बचत हो रही है। वित्त मंत्रालय ने उपभोक्ता खर्च आंकड़े जारी करते हुए यह दावा किया।

वित्त मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार रोजमर्रा उपयोग की वस्तुओं और सेवाओं पर कर को कम रखा गया है। जिसके चलते उपभोक्ताओं को मासिक खर्च में बचत हो रही है। सरकार ने एक जुलाई 2017 को जी.एस.टी. लागू किया था, जिसके बाद बिक्री कर या वैट और उत्पाद शुल्क जैसे 17 केन्द्रीय और राज्य कर जी.एस.टी. में समायोजित हो गए थे।

खाद्य एवं पेय पदार्थ समेत हेयर ऑयल, टूथपेस्ट, साबुन, वॉशिंग पाऊडर और जूते-चप्पल समेत 83 वस्तुओं पर कर की दरें घटी हैं। वैसे जी.एस.टी. लागू होने के बाद से 320 उत्पादों व सेवाओं पर टैक्स घटाया जा चुका है।

मान लीजिए एक परिवार जी.एस.टी. लागू होने के बाद उत्पादों जैसे अनाज, खाद्य तेल, चीनी, चॉकलेट, नमकीन और मिठाई, सौंदर्य प्रसाधन, वॉशिंग पाऊडर जैसे उत्पादों एवं अन्य घरेलू मद में एक महीने में 8,400 रुपए खर्च करता है तो उसकी मासिक बचत 320 रुपए होगी। पहले उसका टैक्स 830 रुपए बनता था, जो अब घटकर 510 रुपए रह गया है।

मंत्रालय के अनुसार पहले किसी वस्तु पर पहले उत्पाद शुल्क लगता था, फिर राज्य उस पर वैट लगाता था, इसके बाद उस पर कई अन्य कर लगते थे लेकिन अब उत्पाद बेचने के समय ही सिर्फ जी.एस.टी. लगता है। मिल्क पाऊडर, दही, बटरमिल्क, मसाले, चावल, पोषक पेय पदार्थ, मिनरल वॉटर जैसे उत्पादों पर भी कर घटा है। इससे आम आदमी को राहत मिली है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.