नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने विधानसभा में कड़े तेवर दिखाने के बाद सदन के बाहर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जोरदार हमला बोला है। तेजस्वी यादव ने इस बात पर नाराजगी जताई है की विधानसभा में विपक्ष के कार्य स्थगन प्रस्ताव पर विचार नहीं किया गया। तेजस्वी यादव ने सीतामढ़ी की घटना को लेकर सरकार से जवाब की मांग करते हुए यह आरोप लगाया है कि बिहार में लॉ एंड ऑर्डर पूरी तरह से फेल हो गया है।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने विधानसभा परिसर में मीडिया कर्मियों से बात करते हुए यह आरोप भी लगाया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पास सरकार के जो भी विभाग हैं उनसे जुड़ा कोई भी सवाल सदन के अंदर प्रश्नोत्तर काल में नहीं आ रहा। तेजस्वी ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री के विभागों से जुड़े सवालों को सदन के अंदर जानबूझकर सेंसर किया जा रहा है। तेजस्वी ने पूछा कि बिहार में लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति अगर खराब है तो गृह विभाग मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पास होने के कारण इसका जवाब कौन देगा? नेता प्रतिपक्ष चुनिंदा विभागों से जुड़े सवालों को प्रश्नोत्तर काल में नहीं रखे जाने पर कड़ी नाराजगी जताई।

बिहार विधानसभा के शीतकालीन सत्र का दूसरा दिन है। आज भी सुबह से ही विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। कुल 5 दिनों का सत्र है ऐसे में सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती है कि आखिर सदन को कैसे चलाया जाए। सरकार का मानना है कि हंगामा बिहार की जनता के लिए ठीक नही है और जनता सब देख रही है और उचित समय आने पर जवाब देगी।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.