गीतिका की तरक्की के कारण आई थी दोनों में खटास

गुडग़ांव : एक समय अरुणा चड्ढा (एमडीएलआर एयर लाइंस कंपनी की प्रबंधक) से गीतिका शर्मा की खूब पटती थी। गीतिका को पूर्व मंत्री गोपाल कांडा के करीब लाने वाली भी अरुणा ही थी। यहां तक कि गीतिका के एयर होस्टेस के नियुक्ति पत्र पर अरुणा के ही हस्ताक्षर थे। हालांकि दोनों के रिश्ते ज्यादा दिनों तक मधुर नहीं रहे थे|

सूत्रों के अनुसार अरुणा व गीतिका के बीच खटास पैदा होने के पीछे गीतिका की तरक्की थी। कुछ ही दिनों में गीतिका व कांडा एक-दूसरे के करीब आ गए थे। शायद यही वजह रही कि गुडग़ांव में एमडीएलआर भवन की दूसरी मंजिल पर बतौर बिग बॉस टू की हैसियत से बैठने वाली अरुणा से गीतिका की दूरी बढ़ गई। कंपनी के कर्मचारी भी गीतिका को ज्यादा तवज्जो देने लगे थे, लेकिन वर्ष 2009 में कांडा और गीतिका बीच मतभेद हुए और गीतिका ने नौकरी छोड़ दी। तब उसे कंपनी में वापस लाने में कांडा ने अरुणा की ही मदद ली। एमडीएलआर कंपनी में कार्यरत कुछ कर्मचारियों के अनुसार गुडग़ांव में अरुणा के फ्लैट पर ही गीतिका को मनाया गया। वहीं पर उसे एमडीएलआर एयरलाइंस कंपनी के निदेशक का नियुक्ति पत्र दिया गया, लेकिन गीतिका का कंपनी में मन नहीं लग रहा था। वह कई-कई दिनों तक कार्यालय नहीं आती थी|

हरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल कांडा के कई राज जानने वाली अरुणा का फ्लैट गुडग़ांव के सेक्टर 56 के एक अपार्टमेंट की नौवीं मंजिल पर है। इस घर में उसके पिता और छह साल की बेटी आरुषि रहते हैं। अरुणा का पति सेना में अधिकारी है। पति-पत्नी में पांच साल से अनबन चल रही है। इसलिए एक दूसरे से अलग रह रहे हैं|

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.