मोदी सरकार ने गुरु नानक जयंती से पहले सिख समुदाय को बड़ी सौगात दी है। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मोदी सरकार ने ऐतिहासिक फैसले लेते हुए करतारपुर कॉरिडोर के निर्माण और विकास की मंजूरी दे दी है।

राजनाथ सिंह ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि पाकिस्तान सरकार से अपील की जाएगी कि उनके क्षेत्र में श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर के लिए इलाके को विकसित किया जाए और श्रद्धालुओं को सुविधा मुहैया कराई जाए। यह कॉरिडोर गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक से अंतरराष्ट्रीय सीमा तक बनाई जाएगी। इसके साथ ही सुल्तानपुर लोधी को ऐतिहासिक हेरिटेज के रूप में विकसित करने का फैसला लिया गया। गुरु नानक देव जी का मानवता शांति और भाईचारे का संदेश दुनिया भर के लिए है। इन समारोह से उनके संदेश का प्रचार करने में मदद मिलेगी। राजनाथ ने कहा कि पाकिस्तान सरकार से कहा गया है कि इसका सकारात्मक जवाब दें।

करतारपुर कॉरिडोर का मुद्दा सबसे पहले कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने उठाया था जब वह इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए थे। इस दौरान पाक आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा से गले मिलने पर वे आरोपों से घिर गए थे। बाद में सिद्धू ने यह कहते हुए अपना बचाव किया था कि बाजवा ने उनसे करतारपुर साहिब मार्ग खोलने की बात कही तो उन्होंने उन्हें गले लगा दिया था।

वहीं 10 नवंबर को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने श्री करतारपुर साहिब मार्ग खुलवाने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को पत्र लिखकर कहा था कि श्री करतारपुर साहिब सिखों की आस्था से जुड़ा है, इसलिए इस मार्ग को खोलने के लिए पाकिस्तान से बात की जाए। उन्होंने कहा था कि राज्य सरकार ने बार-बार केंद्र से अंतरराष्ट्रीय सीमा से करतारपुर साहिब तक एक गलियारा खोलने का मुद्दा पड़ोसी देश के समक्ष उठाने की अपील की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.