नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक से 13 हजार करोड़ का घपला करके विदेश भागे भगौड़े नीरव मोदी को अभी तक भारत सरकार अपने शिकंजे में नहीं ले सकी है। वहीं अब नीरव मोदी दो विदेशी बैंकों से लिए गए लोन की रकम को चुकाने के लिए राजी हो गया है।

एक तरफ जहां भारतीय बैंकों को नीरव मोदी अभी भी ठेंगा दिखा रहा है और भारत की तरफ से कोई बड़ी कार्रवाई नहीं की गई। लेकिन विदेशी बैंकों द्वारा नीरव मोदी पर सख्त कदम उठाने पर नीरव लोन के पैसे देने को राजी हुआ। न्यूयॉर्क के IDB बैंक ने नीरव मोदी की तीन कंपनियों का एक करोड़ 20 लाख डॉलर का लोन 2013 में दिया था, वहीं HSBC ने 2008 में 1 करोड़ 60 लाख डॉलर का लोन दिया था।

अमेरिका के HSBC बैंक और इज़रायल डिसकाउंट बैंक को नीरव मोदी की कंपनियों से भुगतान वसूल लिया है। दोनों ही बैंकों को न्यूयॉर्क की कोर्ट से ये बकाया वसूलने के फरमान मिला था, जिसे उन्होंने पूरा किया। ये लोन नीरव मोदी की कुल संपत्तियों से काफी कम है, इस लिहाज से यूएस ट्रस्टी ने बैंकों और कोर्ट को विश्वास दिलाया है कि उनकी वसूली पूरी हो जाएगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.