नई दिल्ली। महाराष्ट्र के पुणे में डॉक्टरों ने करिश्मा कर दिखाया। डॉक्‍टरों ने 4 साल की बच्‍ची के 60 फीसदी डैमेज हुए स्‍कल को इम्प्लांट कर दिया। बच्ची की खोपड़ी सड़क दुर्घटना में बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई थी, जिसके बाद 3डी पॉलिथिलीन बोन से सफल ट्रांसप्लांट कर दिया। चार साल की इस बच्ची का ये ऑपरेशन देश का पहला स्कल ट्रांसप्लांट बताया जा रहा है।

ये सिंथेटिक बोन एक अमेरिकी कंपनी द्वारा उपलब्ध कराए गए स्कल के मॉडल के माप व आकार के अनुसार बनाई गई थी। डॉक्टरों का दावा है कि यह देश का पहला सफल स्कल ट्रांसप्लांट है। पिछले साल 31 मई को शिरवाल में हुए एक सड़क हादसे में बच्ची को गहरी चोटें आई थीं और खोपड़ी का एक हिस्सा भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया था। बच्ची को तब दो मुश्किल सर्जरी के बाद घर भेज दिया गया था। डॉक्टरों ने इस साल उसे दोबारा अस्पताल में भर्ती किया और सफलतापूर्वक उसकी खोपड़ी का प्रत्यारोपण किया।

बच्ची का इलाज करने वाले भारती अस्पताल के डॉक्टर जितेंद्र ओसवाल ने बताया कि हादसे के बाद बच्ची को अचेत अवस्था में अस्पताल में लाया गया था। उसके सिर से बहुत खून निकल रहा था। उसे तुरंत वेंटिलेटर पर रखा गया। सीटी स्कैन से पता चला कि उसकी स्कल के पीछे की हड्डी में फ्रैक्चर आया है, जिसके चलते वह सूज गई है।

दो मुश्किल सर्जरी करने के बाद उसे वापस भेज दिया गया था, लेकिन वह सहज नहीं थी। उसकी खोपड़ी का ट्रांसप्लांट करने के लिए उसे दोबारा अस्पताल में भर्ती किया गया। घंटों चले मुश्किल ऑपरेशन के दौरान वह खोपड़ी का ट्रांसप्लांट करने में सफल रहे। बच्ची की मां ने बताया कि वह स्कूल जा रही है और अब वह पहले की तरह खुश है और चहक रही है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.