सुनील कुमार 

औरैया। सपा के पूर्व विधायक मदन गौतम के होटल पर चला जिला प्रशासन का बुलडोज़र। जिला प्रशाशन के अधिकारियो के साथ भारी पुलिस बल एवं पी ए सी की बटालियन भी मौके पर मौजूद। पी डब्ल्यू डी की करोड़ों की जमीन पर अवैध रूप से बना था होटल। सत्ता में रहते हुए पूर्व विधायक ने बनवाया था होटल।                            2002 में मदन गौतम पहली बार BSP से अजीतमल विधान सभा से विधायक चुने गए। मायावती के अत्यंत करीबी माने जाने वाले मदन गौतम ने मायावती से टेलीफोन पर शिकायत कर कानपुर के कमिश्नर डॉ हलीम और औरैया के तत्कालीन जिलाधिकारी डॉ हरिओम को निलंबित कराकर सत्ता में अपनी हनक दिखाई थी।2003 में बसपा की सरकार गिरने के बाद मदन गौतम ने विधान सभा से इस्तीफा देकर सपा ज्वॉइन कर ली और बाद में हुए उप चुनाव में दुबारा सपा के टिकट पर चुनाव जीते। इस उप चुनाव में डकैतों द्वारा मतदाताओं के बीच  मदन गौतम के पक्ष में फरमान जारी करने की भी खूब चर्चा हुई थी। 2007 के चुनाव में मदन गौतम को हार का मुंह देखना पड़ा था। लेकिन 2012 के आम चुनाव में मदन गौतम तीसरी बार सपा के टिकट पर चुनकर औरैया विधान सभा से विधान सभा पहुंचे। 2012 से 2017 के पूरे कार्य काल मे मदन गौतम आरोपों से घिरे रहे। सरकारी जमीन को कब्जा करने और उस पर होटल बनवाने के आरोप में उन्हें औरैया पी डब्ल्यू डी ने नोटिस जारी कर 18 जुलाई 2017 तक अवैध कब्जा हटाने का नोटिस दिया था। आज 19 जुलाई को एस डी एम अमित राठौर और डिप्टी एस पी के अलावा भारी फोर्स की मौजूदगी में अवैध होटल ढहा दिया गया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.