लखनऊ। चार जिले तो छोडिये योगी सरकार की नाक के नीचे लखनऊ का है यह हाल। सुअरबाड़े में बदलती लखनऊ की पाश प्रियदशिर्नी कालोनी सेक्‍टर सी को बचाने के लिए पूर्व मेयर व डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा जी लखनऊ उत्‍तर के विधायक डॉ. नीरज बोरा व वर्तमान मेयर सुरेश चन्‍द्र अवस्‍थी ने नहीं की कोई पहल।   शहरों में साफ-सफाई की व्यवस्था को लेकर करवाए गए केंद्र सरकार के स्वच्छ सर्वेक्षण में मध्य प्रदेश का इंदौर शहर सबसे साफ साबित हुआ है। साल 2017 के स्वच्छ सर्वेक्षण के मुताबिक, स्वच्छता रैंकिंग में इंदौर पहले पायदान पर रहा, तो वहीं मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल दूसरे नंबर पर रहा। दुख की बात है कि देश 10 सबसे गंदे शहरों में यूपी के चार जिले नजर आये। अब जरा लखनऊ की तस्‍वीर देखिये । उस लखनऊ की जहां आपके डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा जी बैठते हैं जो बीते 10 सालों से लखनऊ के मेयर रहे हैं। अधिकतर विधायक भाजपा के हैं। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री व नगर विकास मंत्री सहित सारे अफसर व मंत्रियों की नाक के नीचे राजधानी में मोदीजी का स्‍वच्‍छता अभियान धूल खा रहा है। राजधानी की इस तस्‍वीर से लखनऊ उत्‍तर के विधायक डॉक्‍टर नीरज बोरा अच्‍छी तरह वाकिफ हैं।

डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा, विधायक डॉ. नीरज बोरा व वर्तमान मेयर सुरेश चन्‍द्र अवस्‍थी ने नहीं की कोई पहल 

सुअरबाड़े में बदलती प्रियदर्शिनी कालोनी सेक्‍टर सी की इस दशा की शिकायत पूर्व मेयर व अब डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा, लखनऊ उत्‍तर के विधायक डॉ. नीरज बोरा व वर्तमान मेयर सुरेश चन्‍द्र अवस्‍थी को लिखित देने के बाद भी अब तक किसी ने कोई कदम नहीं उठाया है। यह तब है कि सबसे शिकायत उनके फेसबुक पेज पर की गई हैं तस्‍वीरों के साथ। मोदीजी के स्‍वच्‍छता अभियान तो छोडिये सोशल मीडिया पर रहने की सलाह भी बेमानी साबित हो रही है।
लखनऊ की ही पॉश प्रियदर्शिनी कालोनी में सेक्टर सी के 1 /135 से 1/140 के सामने एक पार्क का हाल ही मोदीजी के स्‍वच्‍छता अभियान की असली तस्‍वीर दिखाने के लिए काफी है । दबंगों ने नगरनिगम के अफसरों से मिलकर पार्क को बीते 5 सालों में सुअरबाड़े में बदल दिया है । गौरतलब है कि लखनऊ उत्तर के विधायक माननीय नीरज बोरा जी का आवास यहां से मात्र 50 मीटर की दूरी पर है। वर्तमान मेयर तो इस दुर्दशाग्रस्‍त कालोनी से मात्र 300 मीटर की दूरी पर रहते हैं तब भी उन्‍होंने कोई कदम नहीं उठाये। पूर्व मेयर दिनेश शर्मा जी जो अब डिप्टी सीएम हैं उनके संज्ञान में कई बार पार्क को सुअरबाड़े में बदलने का मामला आया है पर वह सुअर पालक व नगर निगम के घिनौने गठजोड़ के आगे तब लाचार नजर आये। गौरतलब है कि इस सटे फैजुल्ला गंज में गंदगी से फैले डेंगू ने दर्जनों घरों के चिराग बुझाये थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.