पुणे| अपनी तूफानी पारी के दम पर राइजिंग पुणे सुपरजाएंट को जीत दिलाने के बाद भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि रनों का पीछा करते समय शांत रहना बेहद जरूरी है। आईपीएल-9 में सुपरजाएंट के कप्तान रहे धोनी ने अहम समय पर सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 34 गेंदों में 61 रनों की पारी खेलते हुए पुणे को छह विकेट से जीत दिलाई। मैन ऑफ द मैच चुने गए धोनी ने कहा कि वह अपने ऊपर बढ़ते हुए रन रेट का दबाव नहीं लेते।

‘रनरेट से ज्‍यादा मायने रखता है आपका शांत रहना’

मैच के बाद धोनी ने कहा, “ऐसी कोई रन रेट नहीं जो ज्यादा हो। यह सिर्फ इस बात पर निर्भर करता है कि विपक्षी टीम के गेंदबाज किस तरह से गेंदबाजी करते हैं। इसलिए सात, आठ, नौ, दस की रन रेट मायने नहीं रखती। जो मायने रखता है वो यह है कि आप अपने आप को कितना शांत रखते हो।” धोनी ने मनोज तिवारी की भी तारीफ की तिवारी ने अंत में धोनी का बखूबी साथ दिया धोनी ने कहा, “आप हमेशा इस तरह के मैच नहीं जीत सकते। हमने काफी अच्छा प्रदर्शन किया मनोज ने अच्छा योगदान दिया जो महत्वपूर्ण था क्योंकि उसने ज्यादा गेंदें नहीं खाईं” ।
इसके पहले विशाखापत्तनम में खेली थी तूफानी

आईपीएल में महेंद्र सिंह धोनी की फिनिशर के तौर पर 11 महीने बाद वापसी हुई है। आखिरी बार 21 मई 2016 को वे विशाखापत्तनम में फिनिशर की भूमिका में नजर आए थे तब जीत के लिए आखिरी गेंद पर छक्के की जरूरत थी और धोनी ने अक्षर पटेल की गेंद पर वह जादुई छक्का लगा राइजिंग पुणे सुपरजायंट को अविश्वसनीय जीत दिलाई थी। और अब पुणे में 22 अप्रैल 2017 को सनराइजर्स हैदराबाद के सिद्धार्थ कौल की गेंद को बांउड्री के बाहर पहुंचाया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.