लखनऊ। यूपी में आईएसआईएस व अन्य आतंकी संगठनों की मजबूत होती पैठ के मद्देनजर खुफ‍िया एजेंस‍ियां सर्तक हो गईं हैं। सीएम योगी आदित्‍यनाथ पर संभावित खतरे को भांपते हुए उनकी सुरक्षा में बढोतरी करने का फैसला किया गया है। अब योगी आदित्यनाथ एनएसजी कमांडो के सुरक्षा घेरे में रहेंगे। साथ ही उनके काफिले के साथ क्विक रिस्पांस टीम (QRT) भी तैनात रहेगी।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को फिलहाल जेड प्लस सुरक्षा मिली हुई है। जिसके तहत उनकी सुरक्षा में एनएसजी के 35 कमांडो लगे हैं। यह कमांडो सीएम योगी को मोबाइल सुरक्षा प्रदान कर रहे हैं। इस मोबाइल सुरक्षा में एक वक्त में सात कमांडो तैनात रहते हैं। अब इनके अलावा क्यूआरटी की एक टीम भी सीएम योगी आदित्यनाथ की हिफाजत में तैनात रहेगी।

लंदन में रचा जा रहा योगी के खिलाफ षडयंत्र

खुफ‍िया इनपुट के अनुसर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर आतंकी हमले की साजिश लंदन में रची जा रही है। द एशियन एज अखबार ने खुफिया एजेंसियों के हवाले से खबर दी थी कि लंदन में बैठे कुछ कश्मीरी आतंकी प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी की हत्या की साजिश रच रहे हैं।

खुफिया एजेंसियों से मिले इस इनपुट के बाद सिक्योरिटी अलर्ट जारी कर दिया गया है। बताया गया कि करीब एक दर्जन से अधिक प्रशिक्षित आतंकी यूपी में दाखिल हो चुके हैं। स्लीपर सेल की मदद से फिलहाल वह अंडरग्राउंड हैं। अलर्ट के बाद यूपी के सभी जिलाधिकारियों और पुलिस अधिक्षकों को खास निर्दश दिए गए हैं।

ब्लैक कैट कमांडो के साये में रहेंगे सीएम योगी

यूपी की कमान संभालते ही योगी आदित्यनाथ पर खतरा भी बढ़ गया है। जिसे गंभीरता से लेते हुए गृह मंत्रालय ने कुछ दिन पहले ही उनको एनएसजी कमांडो की सुरक्षा देने का फैसला लिया था। इससे पहले ये फैसला लिया गया था कि योगी को जेड प्लस सुरक्षा घेरे में यूपी पुलिस की एक विशेष कमांडो टीम रखेगी और बाहर सीआइएसएफ की एक टुकड़ी तैनात रहेगी। खुफिया ब्यूरो (IB) के पास योगी आदित्यनाथ को लेकर जिस तरीके के खतरे का अलर्ट है, उसके आधार पर एनएसजी की सुरक्षा से बेहतर और कोई सुरक्षा नहीं हो सकती है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.