जेनेवा। दुनिया भर में लगभग 2 अरब लोग दूषित पानी पीते हैं, जो अनुमान के अनुसार प्रत्येक वर्ष दस्त से होने वाली 500,000 से अधिक मौतों का कारण है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने गुरुवार को यह जानकारी दी। डब्ल्यूएचओ के सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग, पर्यावरण और स्वास्थ्य के सामाजिक निर्धारक विभाग की निदेशक मारिया नीयरा ने एक बयान में कहा कि दूषित पानी से न केवल हैजा, पेचिश, टायफाइड और पोलियो का जोखिम होता है बल्कि यह इंटेस्टाइनल वॉर्म्स (आंतों के कीड़े), शिस्टोसोमासिस और ट्रेकोमा सहित कई उष्णकटिबंधीय रोगों का एक प्रमुख कारण है।
डब्ल्यूएचओ ने यूएन-वॉटर की ओर से एक नई रिपोर्ट प्रकाशित करते हुए कहा कि ऐसी स्थिति से पता चलता है कि देश सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) के तहत जल और स्वच्छता के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए तेजी से खर्च को नहीं बढ़ा रहे हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.