भारतीय रिजर्व बैंक ने नोटबंदी के बाद 8 फरवरी को बचत बैंक खाते पर लगी निकासी की सीमा में ढील देने का ऐलान किया था 20 फरवरी से उस नियम को लागू कर दिया गया है। आज यानि सोमवार से अब हर हफ्ते में बचत खाते से 50,000 रुपए निकाल सकेंगे।

भरतीय रिजर्व बैंक के मुताबिक, यह सीमा भी केवल 13 मार्च तक लागू रहेगी। इसके बाद बचत खाते से पैसे निकालने को लेकर कोई सीमा नहीं होगी। ध्यान दें कि जो भी रकम आप एटीएम से निकालते हैं, वह भी सेविंग खाते से निकासी में गिनी जाती है।

8 नवंबर को नोटंबदी के बाद से खातों से निकाले जाने वाली रकम पर कैश की सप्लाई मांग के मुताबिक कम होने के चलते लिमिट लगाई दी गई थी। इस पर समय समय पर समीक्षा की गई और ढील दी गई। आरबीआई ने 30 जनवरी को चालू खाता, कैश क्रेडिट अकाउंट और ओवरड्राफ्ट अकाउंट से निकासी पर लगी सभी किस्म की सीमा को खत्म कर दिया था।

आरबीआई ने 8 नवंबर को 1000 और 500 रुपए के नोटों पर प्रतिबंध के बाद खातों से निकासी पर सीमा लगाई थी। उस वक्त एटीएम से निकासी की अधिकतम सीमा 2,500 रुपए रखी गई थी। इसे बाद में बढ़ाकर 4,500 रुपए कर दिया गया था। 1 जनवरी से आरबीआई ने एटीएम से निकासी की सीमा को बढ़ाकर 10,000 रुपए और करंट अकाउंट से निकासी की सीमा को बढ़ाकर 1 लाख रुपए कर दिया था।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.