भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी और शिवसेना के बीच संबंधों में चर रहे तकरार पर पहली बार चुप्पी तोड़ी है। शाह ने पीएम मोदी पर लगाए आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि उद्धव अब भी हमारे साथ हैं, क्या वो नहीं हैं? भाजपा अध्यक्ष ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने हाल ही में पीएम मोदी पर आरोप लगाते हुए कहा था कि नरेंद्र मोदी सरकार को तानाशाह की तरह चलाते हैं।

शाह ने कहा, ‘जो कुछ भी कहा जा रहा है, वो चुनाव के बुखार की वजह से है। एक बार चुनाव हो जाएगा तो सब अपनी पटरी पर आ जाएगा।’ शाह ने ये विश्वास भी जताया कि बीएमसी चुनाव में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरेगी।

भाजपा मानती है कि सब कुछ ये दिखाने के लिए हो रहा है कि राज्य में ‘बड़ा भाई’ कौन है? हालांकि अमित शाह ने एनसीपी से गठजोड़ की संभावना को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की। अमित शाह इस बात को लेकर आश्वस्त दिखे कि महाराष्ट्र में भाजपा की अगुआई वाली सरकार को कोई खतरा नहीं है। उद्धव ठाकरे ने इन दिनों जो तेवर अपना रखे हैं, उन्हें लेकर ऑन रिकॉर्ड तो भाजपा कुछ नहीं कह रही लेकिन पार्टी में ऐसी भावना दिखती है जो उद्धव को ‘बहुत अहंकारी’ मानती है।

बता दें कि मुंबई में बीएमसी चुनाव 21 फरवरी को होने जा रहे हैं। बीते दो दशक से भी ज्यादा समय से शिवसेना और भाजपा मिलकर बीएमसी चुनाव लड़ते रहे हैं। लेकिन इस बार चुनाव से पहले दोनों में सीटों के बंटवारे को लेकर तकरार हो गई और दोनों ने अलग-अलग चुनाव लड़ने का फैसला किया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.