लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी की परिवर्तन रैली का शनिवार को लखनऊ में समापन हो गया। इस अवसर पर लखनऊ पहुंचे गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रदेश की जनता परिवर्तन चाहती है और वह भाजपा के साथ आने का मन बना चुकी है। इस यात्रा को जैसी सफलता मि‍ली वैसी अब तक कि‍सी यात्रा को नहीं मि‍ली उन्होंने कहा, “हमें परिवर्तन यात्रा के दौरान जनता का भरपूर प्यार मिला है।”
नोटबंदी को लेकर राजनीति ठीक नहीं
उन्होंने कहा, “नोटबंदी को लेकर लोग राजनीति कर रहे हैं, यह सही नहीं है। यह देशहित से जुड़ा मामला है। मोदी सरकार ने कालेधन को रोकने के लिए यह कदम उठाया है।” शनिवार को उप्र में परिवर्तन यात्रा का समापन हो गया है। इसके बाद राजनाथ ने रोड शो का आयोजन किया। राजनाथ ने कहा, “आजाद भारत में विकास और सुशासन देने का काम अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में हुआ था। किसी प्रधानमंत्री ने यदि हमें विश्व में सम्मान दिलाया है तो वो नरेंद्र भाई मोदी की सरकार ने किया है। हमें नोटबंदी को चुनावी हानि और लाभ के रूप में नहीं लेना चाहिए।” राजनाथ सिंह ने कहा कि‍ आज से हम सब संकल्प लेकर जाएंगे कि भाजपा की सरकार ही बनानी है।
लखनऊ में परिवर्तन यात्रा के स्वागत में उमड़ा जनसैलाब
परिवर्तन यात्रा 5 नवंबर को सहारनपुर से 6 नवंबर को झांसी, 8 नवंबर को सोनभद्र और 9 नवंबर को बलिया से चली थी। सभी शनिवार दोपहर 1 बजे मोती महल लॉन में पहुंची। वहां से गृहराज्य मंत्री राजनाथ सिंह, कलराज मिश्र, उमाभारती और प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य गाजे-बाजे के साथ हजरतगंज चौराहा पहुंचे। यहां महात्मा गांधी, सरदार पटेल और अन्य महापुरुषों की मूर्तियों पर माल्यार्पण के बाद यात्रा का समापन हुआ। इससे पहले मोहनलालगंज में 7 जगहों पर यात्रा का भव्य स्वागत हुआ।सभी यात्राएं शनिवार दोपहर लगभग दो बजे लखनऊ स्थित मोती महल लॉन पहुंची। वहां से रोड शो करते हुए राजनाथ सिंह, कलराज मिश्र, उमा भारती और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य गाजे-बाजे के साथ हजरतगंज चौराहा पहुंचे। यहां महात्मा गांधी, सरदार पटेल और अन्य महापुरुषों की मूर्तियों पर माल्यार्पण के बाद यात्रा का समापन हुआ।
इस दौरान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, “403 विधानसभा में 17000 किलोमीटर से ज्यादा की यात्रा की गई। यात्रा के दौरान 26 बड़ी सभाओं को केंद्रीय मंत्रियों ने संबोधित किया। यात्रा के दौरान कुल 49 दिन के दौरान करीब 17 हजार किलोमीटर का सफर किया गया। इसमें भाजपा नेताओं ने करीब दो करोड़ लोगों से सीधा संवाद किया। यात्रा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी छह जनसभाओं को संबोधित किया।”

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.