hc2_1482068914लखनऊ के खेल प्रेमियों के लिए संडे और खुशगवार हो गया. लखनऊ आज विश्व कप के खिताबी मुकाबले का न सिर्फ गवाह बना बल्कि उसने भारत को १५ साल बाद फिर चैंपियन बनते देखा। जूनियर हॉकी विश्व कप के खिताबी मुकाबले में लखनऊ के ध्यानचंद स्टेडियम में भारत ने बेल्जियम को 2-1 से हरा कर जूनियर वर्ल्ड कप हॉकी टूर्नामेंट जीत लिया है। यहां खेले गए फाइनल में भारत ने बेल्जियम को 2-1 से हराया। फर्स्ट हॉफ में ही भारत ने अपोजिट टीम पर 2-0 की बढ़त बना ली थी। भारत ने पहले हाफ के 8वें और 14वें मिनट में गोल किए। बेल्जियम ने आखिरी मिनट में गोल किया। यूपी के सीएम अखिलेश यादव भी मैच के दौरान मौजूद थे। इससे पहले, भारत ने 2001 में वर्ल्ड कप टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम किया था। दोनों ही टीमों के बीच जबरदस्त मुकाबला देखने को मिला।
हाफ के आखिरी मिनट में बेल्जियम को दो पेनॉल्टी कॉर्नर मिले
भारत की तरफ से पहला गोल गुरजंत सिंह ने किया। स्टेडियम में इस दौरान भारत माता की जय और इंडिया-इंडिया के नारे लगे।- दूसरा गोल, सिमरनजीत सिंह ने 14वें मिनट में किया। बेल्जियम को 30वें मिनट में पेनॉल्टी कॉर्नर मिला था। इंडियन टीम के डिफेंस ने उसे नाकाम कर दिया था। इस मैच को देखने के लिए सीनियर टीम के प्लेयर भी पहुंचे थे। दूसरे हाफ के शुरू में दोनों ही टीमों ने डिफेंस पर ज्यादा फोकस किया। भारत के लिहाज से ये फायदे की स्ट्रैट्जी रही। क्योंकि वह पहले हाफ में ही बढ़त में था। दूसरे हाफ के 18वें हाफ में भारतीय टीम को लीड बढ़ाने का मौका मिला। लेकिन ये पेनॉल्टी कॉर्नर गोल में कन्वर्ट नहीं किया जा सका। दूसरे हाफ के आखिरी मिनट में बेल्जियम को दो पेनॉल्टी कॉर्नर मिले।
2001 में भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया में अर्जेंटीना को 6-1 से हराकर खिताब पर कब्जा जमाया था
साल 2001 में भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया में अर्जेंटीना को 6-1 से हराकर खिताब पर कब्जा जमाया था। इसके अलावा भारतीय टीम को 1997 में फाइनल में ऑस्ट्रेलिया से हार मिली थी। जूनियर वर्ल्ड कप में भारत और बेल्जियम के बीच तीन बार भिड़ंत हुई है, जिसमें तीनों ही बार भारत को जीत हासिल हुई है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.