mayawati-21-1471775457लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी  की अध्यक्ष मायावती ने कुशीनगर जिले में रविवार को आयोजित भाजपा की रैली को पूरी तरह से फ्लॉप करार दिया है। मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रैली में दिए गए प्रत्येक बयान पर अपना पलटवार किया। पूर्वाचल का विकास, प्रधानमंत्री के वायदे और नोटबंदी समेत अन्य विषयों पर मायावती ने मोदी पर हमला बोला।
मोदी ने वायदे तो बहुत कुछ किए परंतु उन्हें थोड़ा भी नहीं निभाया
बसपा अध्यक्ष ने कहा कि परिवर्तन रैली में रविवार को प्रधानमंत्री ने पूर्वाचल के विकास के लिए अपने भाषणों में जो कुछ कहा है उसका उन्होंने अपने ढाई वर्षो के शासनकाल में एक-चौथाई हिस्सा कार्य भी पूरा नहीं किया है। उन्होंने कहा कि मोदी ने वायदे तो बहुत कुछ किए परंतु उन्हें निभाया थोड़ा भी नहीं है, जिस कारण खासकर प्रदेश के लोगों में काफी ज्यादा निराशा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की बातें अब भरोसेमंद कतई नहीं रही हैं।
किसानों पर प्रधानमंत्री ने हवा-हवाई बातें की हैं
मायावती ने अपने बयान में कहा कि प्रधानमंत्री ने खासकर किसानों को खाद, फसल बीमा व गन्ना किसानों के बकाए आदि के संबंध में जो लंबी-चौड़ी बातें की हैं वे अधिकांशत: खोखली व हवा-हवाई बातें हैं। इसके अलावा, जहां तक पूर्वाचल क्षेत्र के विकास का मामला है तो इस बारे में केवल कोरे आश्वासनों व हवाई बातों से काम चलने वाला नहीं है, बल्कि इसके लिए ठोस जमीनी व बुनियादी काम करके दिखाने होंगे, जो उस पिछड़े हुए क्षेत्र के लिए थोड़ा भी अब तक नहीं किया गया है। मायावती ने कहा कि पूर्वाचल को अलग से राज्य बनाने की जरूरत है।
नोटबंदी मामले म मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार के इस फैसले के कारण पिछले 19 दिनों से पूरे देश में आर्थिक आपातकाल व भारत बंद जैसा माहौल होने के बावजूद प्रधानमंत्री द्वारा अपनी पीठ आप थपथपाते रहना उनकी गरीब व जनविरोधी मानसिकता का द्योतक है।
नोटबंदी कराकर बंद कर रखा है भारत
उन्होंने कहा कि वास्तव में विरोधी पार्टियों द्वारा 28 नवंबर का ‘भारत बन्द’ का आह्वान मात्र सांकेतिक महत्व का है, क्योंकि भारत को तो पहले से ही पूरी तरह नरेंद्र मोदी की सरकार ने नोटबंदी कराकर बंद कर रखा है, जिसके व्यापक प्रभाव से वे अपने आपको अनभिज्ञ रखे हुए हैं। उन्होंने कहा कि पूर्वाचल की भाषा में एक दो शब्द बोलने से ही पूर्वाचल के लोग, इनसे प्रभावित होने वाले नहीं हैं, बल्कि इन लोगों को केंद्र सरकार से अपने क्षेत्र का केवल विकास ही चाहिए, तब ये लोग इनसे प्रभावित होंगे, जो असंभव ही होता नजर आ रहा है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.