चीन ने चुराई नौसेना की खुफिया जानकारियां

chinese hackersचीन तो वैसे भी हमारे लिए आस्तीन का सांप है। अरुणाचल प्रदेश को वह हमेशा ललचाई नजरों से देखा करता है। इस बार चीन ने भारतीय सेना पर नजरें गड़ाई हैं। चीनी हैकर्स ने भारतीय नौसेना के कंप्यूटर को हैक कर कई खुफिया जानकारियां चुरा ली हैं। ये कंप्यूटर विशाखापट्ट्नम में मौजूद ईस्टर्न नेवल कमांड के हेडक्वॉर्टर्स के हैं। चीनी हैकर्स ने सिस्टम में बग्स प्लांट कर दिया है, जिससे चीनी आईपी अड्रेस पर गोपनीय जानकारी पहुंचने लगीं।

इस मामले में जांच पूरी हो गई है और अब दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है।

नौसेना के अधिकारियों ने बताया कि करीब 7 महीने पहले पूर्वी कमान के कुछ अधिकारियों के खिलाफ बोर्ड ऑफ इंक्वायरी (क्चढ्ढह्र) का आदेश दिया गया था। इस जांच में पता चला था कि कुछ कंप्यूटर में सेंध लगाई गई है और इनमें हैकर्स की घुसपैठ हुई है।

अधिकारियों का कहना है कि बोर्ड ऑफ इंक्वायरी ने अपनी जांच पूरी कर ली है और अपनी रिपोर्ट नौसेना मुख्यालय को भेज दी है। अब बोर्ड ऑफ इंक्वायरी की सिफारिशों के आधार पर नौसेना मुख्यालय इन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई का फैसला करेगा।

गौरतलब है कि ईस्टर्न नेवल कमांड में दक्षिण चीन सागर में भारतीय ऑपरेशन से संबंधित योजनाओं पर काम होता है। यही नहीं भारत का पहला न्यूक्लियर सब-मैरीन मिसाइल आईएनएस अरिहंत का ईस्टर्न नेवल कमांड में ट्रायल भी चल रहा है। गौरतलब है कि दक्षिण चीन सागर में भारत की मौजूदगी से चीन खफा है और कई बार भारत को कड़ी चेतावनी भी दे चुका है।उधर, नौसेना के एक प्रवक्ता ने कहा कि इस मामले का आईएनएस अरिहंत के साथ कोई लेना-देना नहीं है, क्योंकि यह पूरी तरह अलग प्रोजेक्ट है और इसका पूर्वी नौसेना की कमान से संबंध है। इस साल यह दूसरा मौका है, जब नौसेना की आईटी नेटवर्क में सेंध लगने का मामला सामने आया है। इससे पहले गोपनीय जानकारी सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर लीक करने के मामले में 4 अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा चलाया गया था|

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.