simi-terroristभोपाल सेंट्रल जेल से फरार स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) के 8 आतंकियों को 9 घंटे के भीतर ही पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया है। गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के खंडवा से सिमी आतंकी 3 साल पहले भी ऐसे ही जेल से फरार हो गए थे। इनके ऊपर देशद्रोह का मुकदमा चल रहा था। इस बार भागने वाले आतंकियों में कुछ वे आतंकी भी शामिल हैं जो पहले भाग चुके थे। राजनाथ सिंह ने शिवराज चौहान से बात की। डिटेल रिपोर्ट मांगी है।

कॉन्सटेबल को मारकर फरार हुए थे
ये सभी आतंकी ड्यूटी पर मौजूद हेड कॉन्स्टेबल को मारकर फरार हो गए थे। मारे गए हेड कॉन्स्टेबल की पहचान रमाशंकर के रूप में हुई है। एक और गार्ड के घायल होने की खबर है। आतंकियों के इस एनकाउंटर के पीछे एटीएस, भोपाल पुलिस और आईबी का साझा ऑपरेशन था।

भागने वाले सभी 8 आतंकी शेख मुजीब, खालिद, मजीद, अकील खिलजी, जाकिर, महबूब, अमजद और सलिख थे। राज्य के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि पूरे राज्य की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। जेल प्रबंधन की वजह से आतंकियों ने इस घटना को अंजाम दिया। कार्रवाई करते हुए जेल के 5 अधिकारियों को सस्पेंड किया गया था। आतंकियों ने जेल में मिली चादरों की रस्सी बनाई , उसी के सहारे वे दीवार फांद गए। बताया गया था कि इसमें से कुछ आतंकी वे भी थे जो 2013 में खंडवा जेल से भागे थे। घटना रात करीब 3 बजे की है।

डीआईजी ने बताया कि उन्होंने पहले गार्ड को घेर कर अपने कब्जे में लिया और फिर स्टील की प्लेट से उसका गला काट कर उसे मार डाला। मुजीब शेख अहमदाबाद-बॉम्बे ब्लास्ट का मास्टर माइंड है था।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.