poster_नई दिल्ली। भारत ने दावा किया था जो हमले हुये है पाकिस्तान ने कराई थी। लेकिन उसके लिए पाकिस्तान मानने को तैयार नही था। अब फिर से दूसरी मापदंड अपनाने वाला पाकिस्तान सवालों के घेरे में आ गया है। पाकिस्तान के पंजाब राज्य के गुजरांवाला में एक पोस्टर ने पाकिस्तान की पोल खोल दी है। गुजरांवाला में लगे पोस्टर से साफ हुआ है कि भारत की उरी में हुए आतंकी हमले के पीछे लश्कर-ए-तैयबा है।

पंजाब के गुजरांवाला में एक पोस्टर लगा है और इसमें घोषणा की गई है कि लश्कर-ए-तैयबा उरी हमले में मारे गए 4 आतंकियों में से एक की अंतिम यात्रा निकालेगी। आतंकी की अनुपस्थिति में ये यात्रा निकलेगी। उरी हमले में 20 भारतीय जवान शहीद हुए थे। पोस्टर में एक अपराधी का नाम है, जो कि गुजरांवाला निवासी मोहम्मद अनस है, और अब वह अबू सिरका के नाम से ऑपरेट करता था। उसके लिए नमाज में शामिल होने के लिए स्थानीय निवासियों को आमंत्रित किया गया है।

अंतिम संस्कार की प्रार्थना करेगा
गुजरांवाला में लगे पोस्टर में अनस को लश्कर-ए-तैयबा का शेर दिल पवित्र योद्धा बताया गया है, और लिखा हुआ है, जिसने 177 हिंदू सैनिकों को नर्क में भेजा। आतंकी हाफिज सईद अबू अनस की अनुपस्थिति में उसकी अंतिम संस्कार की प्रार्थना का नेतृत्व करेगा।

पाक को सबूत सौंपे
पाकिस्तान ने इस हमले के बाद भारत के सभी दावों को नकार दिया था। और उरी हमले के लिए कश्मीर के हालातों को कारण बताया था। घटनास्थल से कई पाकिस्तानी मार्का सामान मिले थे, जिसे भी उसने नकार दिया था. आतंकियों ने सोते हुए सैनिकों को निशाना बनाया। उरी हमले से जुड़े डिटेल्स भी पाकिस्तान को सौंपे गए। एक हमलावर की पहचान हाफिज अहमद, मुजफ्फराबाद के रूप में की गई है।

ऐसे लिया बदला
उरी हमले के बाद भारत ने पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक कर हमले का बदला लिया। 4 आतंकियों के इस हमले के 11 दिन बाद 29 सितंबर को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में सेना ने तस्दीक की कि उसने सीमा के साथ सटे कई आतंकी लॉन्चपैड या घुसपैठ के अड्डों पर सर्जिकल स्ट्राइक की। सेना ने यह भी कहा कि यह कार्रवाई पक्की और भरोसेमंद जानकारी मिलने के बाद की गई कि आतंकवादी हमले करने के लिए भारत में घुसपैठ की योजना बना रहे हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.