सर्कस और फौजी जैसा धारवाहिकों से पहचान बनाने वाले शाहरुख खान का फिल्मी कॅरियर आज बीस साल का हो गया। आज उन्हें सुपरटार कहा जाता है। शाहरुख खान पर शोहरत के मद में चूर होने का आरोप भी लगता रहा है। वह विवादों की खान है। संवेदनहीनता इतनी कि उनके घर की हिफाजत में इलाहाबाद का सुरक्षागार्ड अपनी जान दे देता है और वह उसे देखने दरवाजे तक नहीं आ पाते। बात यहीं खत्म नहीं होती वह चक दे इंडिया में हाकी के जरिए देशभक्ति का पाठ पढ़ाते हैं और आईपीएल में विदेशी खिलाडिय़ों पर पैसा लुटाते हैं और करोड़ों की शराब पार्टियों में पानी की तरह बहाते हैं। फिलहाल यहां हम उनके बीस साल के फिल्मी सफर पर नजर डालते हैं।

20 साल पहले दिल्ली के एक लडक़े ने सिल्वर स्क्रीन पर दस्तक दी, तो बॉलिवुडवालों ने उसे बेस्ट मेल डेब्यू कहकर सर आंखों पर बिठाया। राजधानी के हंसराज कॉलेज से इकॉनमिक्स में ग्रेजुएट इस मुंडे की किस्मत वाकई बेहद खास है। तभी तो एक बार छाने के बाद उसने फिर कभी पीछे मुडक़र नहीं देखा। जी हां, हम यहां शाहरुख खान की ही बात कर रहे हैं।
काफी स्ट्रगल के बाद फिल्म दीवाना से लोगों को दीवाना बना लेने वाले किंग खान ने इसके बाद पीछे मुडक़र नहीं देखा। चमत्कार में सीधे-सादे लडक़े का रोल निभाने के बाद शाहरुख को असल पहचान बाजीगर से मिली। फिल्म ने उन्हें बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड दिलाया, तो डर ने डेडली विलेन के तौर पर पहचान दिलाई।

1995 में रिलीज हुई दिलवाले दुलहनिया ले जाएंगे ने किंग खान को उन बुलंदियों पर पहुंचा दिया, जिस पर वह आज तक कायम हैं। साथ ही ‘रोमांस के बादशाह’ को काजोल के तौर पर बेस्ट पार्टनर भी मिल गई। दिल तो पागल है और ‘कुछ कुछ होता है में रोमांटिक एसआरके ने अपने फैंस को रोमांस के कुछ और रंग दिखाए, तो मोहब्बते’ में लव गुरु का रोल निभाया।

उन्होंने देवदास बनकर अपने फैंस का दिल जीत लिया, तो मैं हंू ना वीर-जारा स्वदेश और चक दे इंडिया में लगातार अपने रोल्स के साथ एक्सपेरिमेंट किए। उन्होंने कभी डॉन बनकर अपने तेवर दिखाए, तो ओम शांति ओम और रब ने बना दी जोड़ी से फिर रोमांटिक अंदाज में वापसी की। माई नेम इज खान में फिर से शाहरुख ने अपने रोल को जिया, तो रा.वन से बॉलिवुड को एक नई राह दिखाई।

आउटसाइडर से इनसाइडर
बिना किसी गॉडफादर के इंडस्ट्री में एंट्री करने वाले शाहरुख की काबिलियत ही थी कि उन्होंने अपने को वहां तक पहुंचा दिया कि आज उनके बिना बॉलिवुड भी अधूरा है। फिर चाहे वह इंडिया का कोई मंच हो फिर कोई इंटरनैशनल, बिना शाहरुख केबॉलिवुड अधूरा ही है।
शाहरुख दोस्तों के दोस्त हैं। तभी तो उन्होंने यहां अपना बड़ा गु्रप इक_ा कर लिया। दोस्ती की ताकत इतनी कि कैटरीना कैफ के बर्थडे के मौके पर शाहरुख सलमान खान से भिड़े, तो पूरी इंडस्ट्री दो-फाड़ हो गई। एक बार कोप्रोड्यूसर्स से लेकर डायरेक्टर्स और हीरोज से लेकर हीरोइनें तक सब घबरा गए। लेकिन करण जौहर, रितिक रोशनऔर अर्जुन रामपाल जैसे बड़े नामों ने शाहरुख कैंप की मजबूत ताकत दिखाई।

चाहे सलमान से पंगा हो, शिरीष वाला लफड़ा हो या फिर वानखेड़े स्टेडियम वाला विवाद, तमाम बॉलिवुड वालों ने दिलखोल कर उनका फेवर किया। बेशक, यह किंग खान कैंप का जलवा ही है कि किसी टाइम में उनसे दूरी बनानेवाली फराह खान को ना सिर्फ उन्हें अपनी फिल्म में लेने के लिए चक्कर लगाने पड़ रहे हैं, तो उनके हसबैंड शिरीषकुंदर ने थप्पड़ खाकर भी किंग खान से बिना शर्त माफी मांगकर अपनी जान बचाई।

ब्रैंड एसआरके
आज एसआरके सिर्फ एक नाम नहीं, बल्कि एक जबर्दस्त बैं्रड हैं। बेशक, उनकी कीमत का अंदाजा लगाने मेंमैनेजमेंट गुरुओं को भी काफी मशक्कत करनी पड़ती है। उनकी आईपीएल टीम कोलकाता नाइट राइडर्स ने इससाल आईपीएल जीतकर धमाका किया है, तो प्रॉडक्शन कंपनी रेड चिलीज एंटरटेनमेंट ने बॉलिवुड की सबसेमहंगी फिल्मों में से एक ‘रा.वन’ बनाकर नया रिकॉर्ड कायम किया। पिछले दस से भी ज्यादा सालों से प्रॉडक्शन केफील्ड में झंडे गाड़ रहे किंग खान की कंपनी माई नेम इज खान, ओम शांति ओम, डॉन 2 और मैं हूं ना जैसी हिटफिल्मों के प्रॉडक्शन से जुड़ी रही है, तो उनके पास एक बेहद एडवांस स्टूडियो भी है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.