airforce-dayनई दिल्ली। भारतीय पूर्व खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने दूसरे साल एयरफोर्स डे पर परेड देखने गये। गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर इंडियन एयरफोर्स फाउंडेशन डे अपना 84वें मना रही है। पहली बार एयर शो में भारत में बने तेजस फाइटर जेट की ताकत देखने को मिली।

12 पैराजंपर्स ने आठ हजार फीट की ऊंचाई से ग्राउंड पर छलांग लगाकर परेड की शुरुआत की। सचिन तेंदुलकर व एयरफोर्स चीफ अरूप राहा, आर्मी व नेवी चीफ भी मौजूद रहे। सचिन तेंडुलकर एयरफोर्स के ग्रुप कैप्टन की पोस्ट में भी नजर आ रहे हैं। सचिन तेंदुलकर की ये दूसरी साल परेड में नजर आ रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट पर बधाई दी है।

83 साल पहले टाइगर मोथ ने भरी उड़ान
फ्लाई पास्ट में सुखोई, मिराज, जगुआर, मिग-21 के साथ तेजस फाइटर जेट ने पहली बार हिस्सा लिया। 83 से ज्यादा साल पुराने विंटेज एयरक्राफ्ट टाइगर मोथ ने भी उड़ान भरकर सबका ध्यान अपनी तरफ खींचा। ध्रुव की सारंग टीम ने आकाश में कई हैरतअंगेज करतब दिखाए। इसके पहले जवानों की परेड और अनुशासन देखकर हर कोई सैल्यूट करने को मजबूर हो गया। एयरफोर्स चीफ ने सैनिकों को अवॉर्ड दिए, एयर वॉरियर ड्रिल टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन से लोगों का दिल जीत लिया।

आपको पता होगा कि आईएफ की स्थापना 8 अक्टूबर 1932 में हुई थी। प्रोफेशनल स्टैंडर्ड के साथ यह दुनिया की बेहतर एयरफोर्स है। 2 तेजस एयरक्राफ्ट इसी साल 1 जुलाई को एयरफोर्स में शामिल किया गया। तेजस के पहले स्क्वाड्रन को 2 साल तक बेंगलुरु में रहेगा। उसके बाद इसे तमिलनाडु के सेलूर में शिफ्ट कर दिया जाएगा। तेजस एयरक्राफ्ट के विंग्स 8.20 मीटर चौड़े हैं। जबकि इसकी लंबाई 13.20 मीटर व ऊंचाई 4.40 मीटर है। इस तेजस फाइटर जेट का वजन 6560 किलोग्राम है।

तेजस फाइटर ने 15 साल पहले भरी उड़ान
तेजस एयरक्राफ्ट को मैनेज करने के लिए 1984 में एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी बनाई गई थी। तेजस जेट ने 15 साल पहले 4 जनवरी 2001 को पहली उड़ान भरी थी। तब से वायु सेना में शामिल होने तक यह कुल 3184 बार उड़ चुका है। तेजस फाइटर जेट 50 हजार फीट की ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है।

इससे हमले के समय में दुश्मन को भनक भी नहीं लगेगी
फाइटर एयरक्राफ्ट की अहम ताकत है कि उसमें राडार क्रॉस सेक्शन यानी आरसीएस कम से कम होना चाहिए। यानी यह राडार की पकड़ में नहीं आना चाहिए। तेजस इस कसौटी पर खरा उतरता है। इसके हर वैरिएंट में यह फीचर दिया गया है। मतलब कि तेजस अगर हमला करने को तैयार होगा तो दुश्मन को इसकी भनक तक नहीं लग पाएगी।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.