rahul-sonia-gandhi-pariwarसोनिया की इस अफगानी बहू को हां

दिल्ली का अमन होटल है दोनों का मिलन स्थल

कांग्रेस के युवराज अफगान की राजकुमारी पर फिदा

परी लोक कथाओं की तरह एक राजकुमार दूसरे देश की राजकुमारी को चाहता है और उसे पाने के लिए कुछ भी करने को तैयार रहता है। लेकिन यहां यह कहानी धरतीलोक की है। राजकुमार की इच्छा पर किसी की रोक नहीं है। सोनिया को तो काफी दिनों से बहू की तलाश है क्योंकि उससे छोटे वरुण की शादी को भी एक साल से ऊपर हो चुका है। अफगान राजकुमारी पर सोनिया की की रजामंदी है। कांग्रेस के युवराज अभी तक कुआंरे हैं और जहां भी वह जाते हैं लड़कियां उनकी एक झलक पाने के लिए जी जान लगा देती हैं।
क्या कांग्रेस के महासचिव राहुल गांधी अफगानिस्तान की राजकुमारी से प्यार करते हैं? द संडे गार्जियन में छपी रिपोर्ट को सही मानें तो ऐसा ही है। रिपोर्ट में राहुल गांधी का नाम अफगानिस्तान के पूर्व शासक मोहम्मद जहीर शाह की पोती से जोड़ा गया है। लेकिन रिपोर्ट में अफगानी राजकुमारी का नाम नहीं दिया गया है।
मशहूर पत्रकार एमजे अकबर के साप्ताहिक अखबार द संडे गार्जियन ने यह दावा भी किया है कि अफगानी राजकुमारी ने धर्म परिवर्तन करते हुए ईसाई धर्म भी स्वीकार कर लिया है। अखबार का दावा है कि यह जोड़ा रविवार को सोनिया गांधी के आवास पर आयोजित होने वाली प्रार्थना सभा होम चैपल में भी साथ-साथ हिस्सा ले चुका है।
रिपोर्ट के मुताबिक, 43 साल के राहुल गांधी और अफगानी राजकुमारी को दिल्ली के अमन होटल में साथ-साथ देखा जा सकता है। दोनों इस होटल में अक्सर आते हैं। राहुल गांधी होटल के फिटनेस सेंटर में काफी वक्त बिताते हैं।

अफगानी राजकुमारी के दादा जहीर शाह ने 1933 से लेकर चार दशकों तक अफगानिस्तान पर राज किया। 1973 में उनके ही चचेरे भाई मोहम्मद दाऊद खान ने उनका तख्तापलट कर दिया। इसके बाद जहीर शाह इटली चले गए और वहां निर्वासित जीवन जीने लगे। लेकिन 2002 में वे फिर अफगानिस्तान लौटे और उन्हें फादर ऑफ नेशन का खिताब दिया गया। 2007 में 93 साल की उम्र में जहीर शाह का निधन हुआ।
इस खबर के प्रकाशित होने के बाद कई विदेशी अखबारों और वेबसाइटों ने द संडे गार्जियन के हवाले से इस खबर को प्रमुखता से जगह दी है। इनमें जकार्ता पोस्ट जैसी वेबसाइटें शामिल हैं। सोशल वेबसाइटों पर भी राहुल और राजकुमारी के कथित रिश्ते को लेकर हलचल है। ट्विटर पर कई लोग इस खबर को लेकर दंग हैं तो कई सवाल भी पूछ रहे हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.