modi

भारत के सार्क सम्मेलन में हिस्सा न लेने के फैसले के समर्थन में आज श्रीलंका भी आ गया और उसने भी सम्मेलन में हिस्सा न लेने का फैसला किया है। इससे पहले बांग्लादेश, भूटान और अफगानिस्तान भी इस्लामाबाद में होने वाले सार्क सम्मेलन में जाने से मना कर चुके हैं। गौरतलब हो कि उरी अटैक के बाद भारत ने पाकिस्तान पर आतंकवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए सार्क की बैठक में शामिल होने से मना कर दिया था।

भारत के अलावा बांग्लादेश, भूटान, अफगानिस्तान और श्रीलंका के मना करने के बाद पाकिस्तान ने सार्क सम्मेलन का आयोजन करने का फैसला टाल दिया है। अगला सार्क सम्मेलन कब होगा इस पर फैसला मौजूदा अध्यक्ष नेपाल करेगा।

श्रीलंका का इस सम्मलेन से हटने के मायने
भारत के सार्क में शामिल होने से इनकार करने के बाद श्रीलंका का सार्क में न जाने का फैसला ठीक उस वक्त आया है जब श्रीलंका के पीएम रनिल विक्रमेसिंघे भारत का दौरा करने वाले हैं। 4 से 6 अक्टूबर को श्रीलंका के पीएम भारत में होंगे। माना जा रहा है भारत से अच्छे संबंधों के मद्देनजर श्रीलंका ने यह फैसला लिया है।

अब क्या होगा?
आठ सदस्यीय सार्क का मौजूदा अध्यक्ष नेपाल है, भारत ने अपने फैसले से नेपाल को अवगत करा दिया है कि पीएम नरेंद्र मोदी नवंबर में प्रस्तावित सार्क सम्मेलन में हिस्सा लेने इस्लामाबाद नहीं जाएंगे। नियमों के मुताबिक सम्मेलन में सभी सदस्य देशों की मौजूदगी जरूरी है। अगर एक भी सदस्य सम्मेलन में हिस्सा नहीं लेता है तो इसे स्थगित करना पड़ता है या रद्द करना पड़ता है। अब नेपाल का फैसला करना है अगला सार्क सम्मेलन कब और कहां होगा। साल 1985 में बने इस गुट में भारत, पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, भूटान, श्रीलंका और अफगानिस्तान शामिल हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.